DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › लखीमपुरखीरी › महीने भर बहिष्कार के बाद एसडीएम ने वकीलों को वार्ता को बुलाया
लखीमपुरखीरी

महीने भर बहिष्कार के बाद एसडीएम ने वकीलों को वार्ता को बुलाया

हिन्दुस्तान टीम,लखीमपुरखीरीPublished By: Newswrap
Wed, 04 Aug 2021 03:31 AM
महीने भर बहिष्कार के बाद एसडीएम ने वकीलों को वार्ता को बुलाया

निघासन-खीरी।

एसडीएम की कार्यशैली को लेकर 29 जून से उनकी अदालत का बहिष्कार कर रहे वकीलों को एसडीएम ने मंगलवार को वार्ता के लिए बुलावा भेजा। एक महीने से अड़ियल रुख अपनाए एसडीएम के संबंध में वकीलों ने सोमवार को ही इस मामले में बैठक करके मंगलवार से प्रदर्शन वगैरह करने का निर्णय लिया था। वकीलों ने शुक्रवार को बातचीत करने का फैसला किया है।

इस बाबत जानकारी देते हुए तहसील अधिवक्ता संघ निघासन के मीडिया प्रभारी राकेश वैश्य और राजू गिरि ने बताया कि एसडीएम ओमप्रकाश गुप्ता के व्यवहार और मुकदमों में अपनाई जा रही प्रक्रिया आदि के विरोध में वकील 29 जून से एसडीएम के न्यायालय का बहिष्कार कर रहे हैं। एक महीने से भी ज्यादा समय बीत जाने के बावजूद एसडीएम ने अड़ियल रवैया अपनाते हुए अभी तक न तो वकीलों की समस्याएं दूर करने का और न ही उनको वार्ता के लिए बुलाने का कोई प्रयास किया। इससे नाराज वकीलों ने सोमवार को बैठक करके मंगलवार से जुलूस निकालकर प्रदर्शन आदि करने का निर्णय किया था।

मंगलवार को एसडीएम ने संघ अध्यक्ष सुबोध पांडे को फोन करवाकर वार्ता के लिए बुलवाया। इस दौरान बैठक कर रहे वकीलों ने शुक्रवार को वार्ता करने पर सहमति जताई। बैठक में अध्यक्ष सुबोध पांडे , उपाध्यक्ष उमाकांत जायसवाल, मंत्री सर्वेश मिश्र सहित श्यामबाबू, प्रमोद यादव, रमेश कुमार और वीपी रुहेला, आरके चतुर्वेदी, उत्तम गुप्ता, दयाशंकर पाल, मो. लतीफ, सर्वेश गुप्ता, भानुप्रताप, लवकुमार तिवारी, टीएल यादव, विनीत शुक्ला, रामकुमेश, हरिओम बाथम, राजू गिरि व राकेश वैश्य आदि मौजूद रहे।

संबंधित खबरें