40 of children in Kheeri district are anemic - खीरी जिले में 40 फीसदी बच्चे एनिमिक DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खीरी जिले में 40 फीसदी बच्चे एनिमिक

खीरी जिले में 40 फीसदी बच्चे एनिमिक

प्रदेश के सबसे बड़े जिले में बच्चे खून की कमी से जूझ रहे है। इसके चलते बच्चों में खून की कमी उनकी नसें सूखा रही है। जिले की यह भयावह तस्वीर अस्पताल की ओपीडी की रिपोर्ट दिखा रही है। हालत यह है कि अभी भी इसको लेकर कारगर उपाय न हुआ तो खून की कमी बच्चों में महामारी जैसा माहौल बना देगी।

जिला अस्पताल में पीड्रियाट्रिक की महज दस दिन की रिपोर्ट रोगटे खड़े करने देने के लिए काफी है। अस्पताल में महज एक डॉक्टर की ओपीडी रिपोर्ट दर्शा रही है रोजाना बीमार होकर आने वाले बच्चों में 20 से 40 प्रतिशत बच्चे खून की कमी से बेहाल है। दस दिन में बीमार होकर अस्पताल आने वाले कुल बच्चों की संख्या 665 रही।

इन बच्चों में 250 बच्चों को एनीमिक की बीमारी निकली है। इस तरह से खून की कमी वाले बच्चों का प्रतिशत लगभग 37.56 प्रतिशत रहा है। खून की कमी से परेशान बच्चे को अन्य कई तरह की बीमारियों से ग्रस्ति होने का ज्यादा खतरा रहता है। साथ ही उनके विकास में भी यह सबसे बड़ी बाधा है।

जिला अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. राजेश कुमार का मनना है कि बच्चे अपनी फुल डाइट नहीं ले रहे है। साथ ही डाइट में शामिल होने वाली पोष्टिक जीचों का भी अभाव है। इसके साथ ही स्वच्छता न बरतना, साफ सफाई का ध्यान न देना भी इस बीमारी का कारण होता है। छिछला या गंदा पानी, शरीर में विटामिन ए की कमी भी इस बीमारी को बढ़ावा देता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:40 of children in Kheeri district are anemic