ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कौशाम्बीमानदेय हड़प कर चुनाव ड्यूटी से भाग निकले मतदान कार्मिक

मानदेय हड़प कर चुनाव ड्यूटी से भाग निकले मतदान कार्मिक

कुछ मतदान कार्मिकों ने प्रशिक्षण करके चुनाव ड्यूटी का मानदेय भी हासिल किया। लेकिन, चुनाव ड्यूटी के दौरान गैरहाजिर रहे। इन कार्मिकों को तलाशने में...

मानदेय हड़प कर चुनाव ड्यूटी से भाग निकले मतदान कार्मिक
हिन्दुस्तान टीम,कौशाम्बीFri, 24 May 2024 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

कुछ मतदान कार्मिकों ने प्रशिक्षण करके चुनाव ड्यूटी का मानदेय भी हासिल किया। लेकिन, चुनाव ड्यूटी के दौरान गैरहाजिर रहे। इन कार्मिकों को तलाशने में अधिकारी हलाकान रहे। 166 कर्मचारियों ने आयोग को ठेंगा दिखाया है। सेक्टर मजिस्ट्रेट ने इसकी रिपोर्ट दी तो अफसर खफा हो गए। अब चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेजकर इन कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई कराने की कवायद तेज हो चुकी है।
लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 में निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान सम्पन्न कराने के लिए विभिन्न श्रेणी के कार्मिकों को मतदान अधिकारी, पीठासीन अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था। इन कार्मिकों को विधिवत प्रशिक्षण भी दिया गया और प्रशिक्षण के दौरान श्रेणीवार मानदेय उनके खाते में भेजा गया। इसके बाद तृतीय रेंडमाइजेशन के बाद कार्मिकों से कहा गया था कि वे चुनाव ड्यूटी के लिए समय से नवीन मंडी ओसा आएंगे और उपस्थिति दर्ज कराते हुए चुनाव कराएंगे। इसके बावजूद लगभग 166 कार्मिक नवीन मंडी ओसा नहीं पहुंचे। 20 मई को इन कार्मिकों की खोज खबर ली जाती रही। माइक से बार-बार एलाउंस भी किया जाता रहा। अफसरों को रिजर्व पार्टी के कार्मिकों को भेजना पड़ा था।

मतदान अधिकारी कार्मिक/मुख्य विकास अधिकारी डॉ. रवि किशोर त्रिवेदी ने इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने बताया कि कर्मचारियों की मनमानी निर्वाचन आयोग के आदेशों का सीधा उल्लंघन है। इसके अलावा बिना कार्य किये धनराशि हड़पना व मतदान कार्य में बाधा डालना भी साबित हो रहा है। ऐसे कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के लिए सेक्टर मजिस्ट्रेट की रिपोर्ट के आधार पर आरोप पत्र बनाकर निर्वाचन आयोग को भेजने की तैयारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि ऐसे कर्मचारियों से धनराशि वसूली के साथ-साथ कठोर कार्रवाई भी की जाएगी।

--------------------

चुनाव ड्यूटी से गायब रहे कार्मिकों पर हो सकती है एफआईआर

चुनाव ड्यूटी से गायब रहे मतदान कार्मिकों पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है। इन्हें चिह्नित कर लिया गया है। 166 कर्मचारियों की लापरवाही से पोलिंग पार्टियों को रवाना करने में दिक्कत हुई थी। अब इन कार्मिकों के खिलाफ अफसरों ने कार्रवाई शुरू कर दी है। नोटिस जारी किया जा चुका है। कार्मिकों के खिलाफ एफआईआर कराई जा सकती है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।