DA Image
30 मार्च, 2020|3:18|IST

अगली स्टोरी

97 करोड़ का ठेका लेकर 50 लाख की कर चोरी

97 करोड़ का ठेका लेकर 50 लाख की कर चोरी

1 / 2वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विभाग के दो डिप्टी कमिश्नर और तीन अन्य अधिकारियों ने जिला मुख्यालय में विद्युतीकरण कर रही एक कंपनी के कार्यालय में छापा...

97 करोड़ का ठेका लेकर 50 लाख की कर चोरी

2 / 2वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विभाग के दो डिप्टी कमिश्नर और तीन अन्य अधिकारियों ने जिला मुख्यालय में विद्युतीकरण कर रही एक कंपनी के कार्यालय में छापा...

PreviousNext

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विभाग के दो डिप्टी कमिश्नर और तीन अन्य अधिकारियों ने जिला मुख्यालय में विद्युतीकरण कर रही एक कंपनी के कार्यालय में छापा मारा। कंपनी पर आरोप है कि उसने 50 लाख से अधिक की कर चोरी की है। जांच के दौरान कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर व कर्मचारी अभिलेख नहीं दे सके हैं। जीएसटी के अधिकारियों ने कंपनी के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

हैदराबाद की प्रकाशम हैवी इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को कौशाम्बी में 97 करोड़ का ठेका विद्युतीकरण के लिए मिला है। कंपनी लंबे समय से जिले में विद्युतीकरण का काम करा रही है। इस कंपनी के साथ चार अन्य कंपनियां भी काम कर रहीं हैं। कंपनी की ओर से पूर्वांचल विद्युत वितरण खंड वाराणसी में हरियाणा और दिल्ली की फर्म से पोल, ट्रांसफार्मर, केबल के अलावा अन्य उपकरणों की खरीद का बिल लगाकर आरटीजीएस किया था। फर्जी बिल लगाकर कंपनी ने 50 लाख रुपये से ज्यादा की कर चोरी की थी। जांच में मामला संदिग्ध पाए जाने पर गुरुवार को डिप्टी कमिश्नर (जीएसटी) हेमंत कुमार गौतम, मुकेश सिंह, असिस्टेंट कमिश्नर लल्लन प्रसाद सिंह, सीटीओ डॉ. अवध कुमार, वाणिज्य कर अधिकरी जितेंद्र कुमार ने जिला मुख्यालय में फायर स्टेशन के सामने स्थित कंपनी के आफिस में छापा मारा। टीम पुलिस बल के साथ आई थी। कंपनी का छापा पड़ते ही हड़कंप मच गया। प्रोजेक्ट मैनेजर विक्रम सिंह से अधिकारियों ने पूछताछ की। इस दौरान अभिलेख मांगे गए, लेकिन प्रोजेक्ट मैनेजर अभिलेख नहीं दिखा सके। अधिकारियों ने बताया कि कंपनी ने 50 लाख की कर चोरी के लिए दिल्ली और हरियाणा की फर्जी फर्म के नाम पर बिल लगाया था। कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Tax evasion of 50 lakhs taking a contract of 97 crores