DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस भर्ती 2015 की धांधली में रिपोर्ट दर्ज करने का निर्देश

पुलिस भर्ती 2015 में फर्जी मार्कशीट लगाकर चयन कराने वाले अभ्यर्थियों पर पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। फर्जी मार्कशीट लगाकर नौकरी हथियाने वाले युवकों के खिलाफ एसपी ने एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया है। साथ ही पूरे मामले की जांच सीओ सदर को सौंप दी है। इससे धांधली करने वाले युवकों व मार्कशीट तैयार करने वाले रैकेट के सदस्यों की नींद उड़ गई है। एसपी ने रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए।

वर्ष 2015 में हुई पुलिस भर्ती में जिले के 251 अभ्यर्थियों का चयन हुआ था। इनमें से 37 लोगों की मार्कशीट संदिग्ध थी। पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारियों ने इनकी मार्कशीट का सत्यापन कराया। 32 चयनित अभ्यर्थियों की सत्यापन रिपोर्ट आ चुकी है। सभी की मार्कशीट फर्जी मिली हैं। मध्य प्रदेश बोर्ड की मार्कशीट युवाओं ने भर्ती के लिए लगाई थी। मध्य प्रदेश बोर्ड की रिपोर्ट आते ही पुलिस भर्ती बोर्ड के अधिकारी सतर्क हो गए। बोर्ड ने एसपी प्रदीप गुप्ता को 32 चयनित अभ्यर्थियों का चयन रद्द करते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। एसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सीओ सदर सच्चिदानंद पाठक को रिपोर्ट दर्ज कराने का निर्देश दिया। साथ ही पूरे मामले की जांच करने की भी जिम्मेदारी सीओ सदर को दी गई है। सीओ ने बताया कि देर रात रिपोर्ट दर्ज हो जाएगी। इसके बाद अभ्यर्थियों व फर्जी मार्कशीट लगाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया जाएगा। खेल में शामिल सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इनका कहना है कि

पुलिस भर्ती 2015 में फर्जी मार्कशीट लगाकर नौकरी हासिल करने वाले अभ्यर्थियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने का निर्देश जारी कर दिया गया है। साथ ही पूरे मामले की जांच सीओ सदर को सौंपी गई है। फर्जी मार्कशीट तैयार करने वाले गिरोह के सारे सदस्यों के भी खिलाफ कार्रवाई होगी।

प्रदीप गुप्ता, एसपी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Police Recruitment 2015 Rigging