kausambi No water ponds wild animals birds - तालाबों में नहीं भरवाया गया पानी, पशु-पक्षी बेहाल DA Image
13 दिसंबर, 2019|3:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तालाबों में नहीं भरवाया गया पानी, पशु-पक्षी बेहाल

भीषण गर्मी एवं तपन को देखते हुए डीएम मनीष कुमार वर्मा ने पिछले महीने पशु-पक्षियों के लिए पानी मुहैया कराने के उद्देश्य से मातहतों समेत जिला स्तरीय अधिकारियों को तालाब में पानी भराने की जिम्मेदारी सौंपी थी। लेकिन जब उन्हें खास प्रगति नहीं दिखी तो उन्होंने कुछ ही दिन बाद अभियान चलाकर तालाबों की खुदाई एवं पानी भराए जाने का निर्देश दिया। तालाबों पर अधिकारियों ने जाकर फावड़ा चलाकर खुदाई का काम शुरू कराया। लेकिन तालाबों में अब तक पानी नहीं भरवाया जा सका। इससे पशु-पक्षी पीने के पानी के लिए भटक रहे।

कागज पर भर गए तालाब

डीएम के निर्देश का मातहतों पर असर पड़ा है, लेकिन सिर्फ कागजों पर। मातहतों ने कागजों पर करीब 60 फीसदी तालाबों में पानी भरवा दिया। जबकि जमीनी हकीकत यह है कि जिले के एक सैकड़ा तालाबों में भी पानी नहीं भरवाया जा सका। यही नहीं तालाब सूखने से पशु-पक्षी परेशान नजर आ रहे।

आगे नहीं आईं समाजसेवी संस्थाए

वैसे तो समाजसेवी संस्थाएं तरह-तरह से आवाम एवं जरूरतमंदो की सहायता के लिए आगे आती है। लेकिन इस बार कुछ एक संस्थाओं को छोड़ दिया जाए तो किसी ने भी गर्मी में पानी से निजात दिलाने के प्याऊ, तालाब भरवाना, जंगलों में घड़े रखवाने का काम नहीं किया। इसे लेकर भी अब लोगों के मन में सवाल उठने लगे है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kausambi No water ponds wild animals birds