अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आस्था और विश्वास के साथ पूजीं गईं मां शीतला

शक्तिपीठ कड़ा धाम में शनिवार को भक्तों की जबर्दस्त भीड़ उमड़ी। श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान के बाद विधि-विधान से मां शीतला का पूजन किया। इस दौरान मां के जयकारों और धूप, दीप, नैवेद्य की सुगंध से इलाके का माहौल भक्तिमय बना रहा। 51 शक्तिपीठों में एक मां शीतला के कड़ा स्थित धाम में हर साल अषाढ़ महीने में मेला लगता है। इस बार भी दस दिवसीय मेले का आयोजन किया गया। शनिवार को शीतला अष्टमी थी। इस वजह से रौनक देखते ही बन रही थी। भक्त सुबह से ही मां के दरबार में माथा टेकने के लिए धाम पहुंच गए थे। गंगा स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने घंटों लाइन में खड़े रहकर माता रानी का पूजन किया और पुण्य की कामना की। पंडा समाज के लोगों ने बताया कि अषाढ़ मेले में मां की आराधना करने के लिए हर बार पूर्वांचन के सभी जिलों से भक्त आते हैं। अबकी दफा भी प्रदेश के विभिन्न इलाकों से हजारों श्रद्धालु आए। इन्होंने पूजन के साथ मां को पालना भी चढ़ाया। गौरतलब है कि शीतला देवी को पालना अधिक पसंद है। विद्धानों का कहना है पालना चढ़ाने से मां अत्यधिक प्रसंन्न होती हैं और अपने भक्त की मनचाही मुराद पूरी करती हैं। गंगा घाटों पर भी उमड़ी भीड़:मां शीतला का पूजन करने से पहले भक्तों ने कड़ा के कुबरी, तपस्वी, कालेश्वर, नागा आश्रम, हनुमान आदि घाटों में जाकर गंगा स्नान किया। देखा गया कि सभी घाटों में सुबह से ही भक्तों की जबर्दस्त भीड़ उमड़ पड़ी थी। स्नान का सिलसिला शाम तक चलता रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:godees Sheetla worship by faith