DA Image
30 सितम्बर, 2020|5:00|IST

अगली स्टोरी

तौल कम होने पर डीएम ने दी चेतावनी

default image

एक मई से नि:शुल्क राशन का वितरण होना था। कई दुकानें बंद रहीं। ई-पास मशीन काम न करने का बहाना बताकर कोटेदारों ने दुकान बंद रखी। डीएम ने कनवार में सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान का निरीक्षण किया। जांच में गेहूं की तौल कम मिली तो उन्होंने नाराजगी जाहिर की। इसके बाद पूरे मामले की जांच एसडीएम को सौंप दी।

डीएम मनीष कुमार वर्मा ने शुक्रवार को सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानों का निरीक्षण एसपी अभिनंदन के साथ किया। कनवार गांव के कोटे की दुकान की जांच उन्होंने की। इस दौरान वहां उन्होंने बाट की जांच करवाई तो पता चला कि उपभोक्ताओं को राशन कम तौला जा रहा था। डीएम ने इस पर नाराजगी जाहिर की। साथ ही चेतावनी दी कि सभी लोगों को वह 100-100 ग्राम गेहूं ज्यादा तौलेगा। पूरे मामले की जांच उन्होंने एसडीएम सिराथू राजेश श्रीवास्तव को सौंप दी। इसके बाद उन्होंने कई दुकानों का निरीक्षण किया। सोशल डिस्टेसिंग का पालन हो रहा है या नहीं। इसकी भी जांच की गई। जांच के दौरान उन्होंने कोटेदार व उपभोक्ताओं को हिदायत दी कि वह मास्क अथवा गमछा बांधकर निकले। लोगों से एक मीटर की दूरी बनाएं रखें। कोटेदारों से कहा कि वह साबुन से हाथ धुलवाने के बाद वह ई-पास मशीन को सेनिटाइज करवाएं, इसके बाद लोगों का अंगूठा लगवाए। हर बार यही करना है। पहले दिन नांदेमई और टांडा गांव के कोटे की दुकान बंद रही। पूछने पर कोटेदारों ने बताया कि पास ई-पास मशीन काम नहीं कर रही है।