ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश कौशाम्बीचाइल्ड लाइन ने बच्चों को जागरुक करने के लिए सुधवर गांव में की बैठक

चाइल्ड लाइन ने बच्चों को जागरुक करने के लिए सुधवर गांव में की बैठक

चाइल्ड लाइन सब सेंटर चायल के सदस्यों ने शनिवार को पहाड़पुर सुधवर गांव में बैठक की। उपस्थित लोगों को जानकारी देते हुए कोआर्डिनेटर गुलाम हसन ने बताया...

चाइल्ड लाइन ने बच्चों को जागरुक करने के लिए सुधवर गांव में की बैठक
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,कौशाम्बीSat, 31 Jul 2021 06:31 PM
ऐप पर पढ़ें

चायल। हिन्दुस्तान संवाद

चाइल्ड लाइन सब सेंटर चायल के सदस्यों ने शनिवार को पहाड़पुर सुधवर गांव में बैठक की। उपस्थित लोगों को जानकारी देते हुए कोआर्डिनेटर गुलाम हसन ने बताया कि बच्चों से संबधिंत सभी समस्याओं का समाधान बोर्ड के माध्यम से किया जा रहा है। 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों की सेवा करना ही चाइल्ड लाइन का मुख्य उद्देश्य है।

कमला ग्राम विकास संस्थान की ओर से संचालित चाइल्ड लाइन सब सेंटर चायल के कोआर्डिनेटर गुलाम हसन ने कहा कि बच्चे की शारीरिक, मानसिक शोषण करना अपराध है। बच्चा यदि कहीं खो गया हो या अन्यत्र बाल मजदूर के रूप में ले जाया गया हो। इसके लिए 1098 में फोन कर शिकायत दर्ज कर सकते हैं। समाज में कोई गरीब अनाथ बच्चा पाए जाने पर अविलम्ब सम्पर्क करें। गरीब परिवार के बच्चों को सरकार के द्वारा नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा भी दी जा रही है। उन्होंने चाइल्ड लाइन के कार्यों के बारे में बताते हुए कहा कि मानव तस्करी के प्रति आम लोगों को भी जागरूक होना होगा। लोग जागरूक होंगे तभी मानव तस्करी रुकेगी। उन्होंने कहा कि बच्चों से संबंधित समस्याओं को लेकर पंचायत प्रतिनिधि भी जागरूक हों। उन्होंने कहा की बाल श्रम बच्चों के विकास में बाधक है एवं बाल श्रम कानूनी अपराध है। उन लोगों से बचाना चाहिए जो इन सब दुर्गुणों को बढ़ावा देने के लिए एजेंट के रूप में काम करते हैं। इस दौरान कहीं भी इस तरह के अपराध होते दिखाएं देने पर 1098 चाइल्ड हेल्पलाइन में जानकारी देने की बात कही। जिससे बच्चों को सुरक्षित रखा जा सके। बैठक में टीम मेंबर दीपक सिंह ने भी चाइल्ड लाइन के बारे में लोगों को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने लोगों को इस दुर्गुण में नहीं फसने का संकल्प दिलाया। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 से सतर्क रहने को भी कहा गया। इस मौके पर टीम मेंबर त्रिभुवन लाल, राजमणि त्रिपाठी समेत गांव के दर्जनों लोग मौजूद रहे।

epaper