DA Image
26 जनवरी, 2021|4:45|IST

अगली स्टोरी

गुजरात हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने पुश्तैनी जमीन का किया बैनामा

गुजरात हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने पुश्तैनी जमीन का किया बैनामा

गुजरात हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस गुरुवार को कौशाम्बी के चायल तहसील पहुंचे। वह अपने कृषि योग्य जमीन का बैनामा करने के लिए तहसील पहुंचे थे। चीफ जस्टिस के तहसील आने की भनक लगते ही प्रशासनिक अमला पूरी तरह मुस्तैद रहा। बैनामा हो जाने पर वह लौट गए।

चीफ जस्टिस विक्रम नाथ श्रीवास्तव मूलत: चायल तहसील क्षेत्र के नरना उर्फ आलमचंद गांव के रहने वाले हैं। सितंबर 2019 से वह गुजरात हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस हैं। पैतृक गांव के आसपास उनकी जमीनें हैं। उन जमीनों की देखरेख परिवार के लोग करते हैं। गुरुवार को जस्टिस विक्रमनाथ अपने भाई वात्सल्य नाथ, विभुनाथ और बुआ वंदना जयनारायण के साथ चायल तहसील पहुंचे। वहां उन्होंने मोहनापुर गांव स्थित कुल 32 बीघा खेती योग्य पुश्तैनी जमीन का बैनामा प्रयागराज के राजापुर निवासी जीतलाल यादव, प्रतीक मोहन यादव, चंद्रकेश मोहन यादव, और पूर्णिमा यादव के नाम कर दिया। स्टाम्प शुल्क व निबंधन शुल्क बतौर राजस्व सरकारी खजाने में जमा हुआ। बैनामा होने के बाद जस्टिस विक्रमनाथ ने उपनिबंधक सुनील सिंह समेत कार्यालय के समस्त स्टाफ को बैनामा के सम्बन्ध में की गई तैयारियों को लेकर धन्यवाद दिया। एसडीएम ज्योति मौर्य, सीओ डॉ. केजी सिंह समेत बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मान सिंह और मंत्री सगीर अहमद समेत सभी अधिवक्ता मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chief Justice of Gujarat High Court did the deed of ancestral land