DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक और एटीएम रहे बंद, नहीं मिले रुपये

बैंक और एटीएम रहे बंद, नहीं मिले रुपये

1 / 3बैंकों की हड़ताल के पहले दिन उपभोक्ता रुपये नहीं मिलने से हलाकान हो गए। हड़ताल से बुधवार को लगभग 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। इसका सीधा असर बाजार पर भी दिखा। भीषण गर्मी में उपभोक्ता पैसों के लिए...

बैंक और एटीएम रहे बंद, नहीं मिले रुपये

2 / 3बैंकों की हड़ताल के पहले दिन उपभोक्ता रुपये नहीं मिलने से हलाकान हो गए। हड़ताल से बुधवार को लगभग 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। इसका सीधा असर बाजार पर भी दिखा। भीषण गर्मी में उपभोक्ता पैसों के लिए...

बैंक और एटीएम रहे बंद, नहीं मिले रुपये

3 / 3बैंकों की हड़ताल के पहले दिन उपभोक्ता रुपये नहीं मिलने से हलाकान हो गए। हड़ताल से बुधवार को लगभग 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। इसका सीधा असर बाजार पर भी दिखा। भीषण गर्मी में उपभोक्ता पैसों के लिए...

PreviousNext

बैंकों की हड़ताल के पहले दिन उपभोक्ता रुपये नहीं मिलने से हलाकान हो गए। हड़ताल से बुधवार को लगभग 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ। इसका सीधा असर बाजार पर भी दिखा। भीषण गर्मी में उपभोक्ता पैसों के लिए एटीएम के चक्कर लगाते नजर आए। लेकिन एटीएम के भी बंद होने से लोगों को नकदी के लिए समस्याओं का सामना करना पड़ा। गुरुवार को भी बैंकों की हड़ताल रहेगी। गुरुवार को प्रभावित कारोबार का आंकड़ा दोगुना होने की संभावना है।

जनपद में 13 बैंकों की 114 शाखाएं हैं। इसके अलावा 65 एटीएम लगे हैं। बैंकों के कर्मचारियों ने वेतन वृद्धि व अन्य मांगों को लेकर बुधवार से हड़ताल पर जाने की घोषणा की थी। बुधवार को बैंकों का ताला नहीं खुला। उपभोक्ता बैंक पहुंचे तो उनको हड़ताल का पता चला। रुपये जमा और निकालने आए लोगों को बैरंग लौटना पड़ा। लोगों को एटीएम से उम्मीद थी, लेकिन एटीएम भी बंद मिले। इससे लोगों में नाराजगी भी दिखी। हड़ताल के पहले दिन करीब 10 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। इस हड़ताल का सीधा असर बाजार पर पड़ा है। बिना नकदी लोग खरीदारी नहीं कर सके तो वहीं व्यापारियों की भी यही समस्या रही। ट्रांसपोर्ट का भी कारोबार बैंकों की वजह से प्रभावित हुआ। रुपये का लेनदेन नहीं हो सका। अमूमन रोज की तरह बुधवार को बाजार फीका रहा। 10 हजार रुपये से ऊपर की खरीदारी सबसे ज्यादा प्रभावित हुई या यूं कहें कि थोक का कारोबार हड़ताल की वजह से 60 फीसदी से ज्यादा ठप रहा।

गेहूं बेचने वाले किसानों को नहीं मिला भुगतान

बैंक की हड़ताल की मार किसानों पर भी पड़ी है। गेहूं क्रय केंद्रों में गेहूं बेचने वाले किसानों को हड़ताल की वजह से भुगतान नहीं हो सका। किसानों के खाते में सीधे रुपये जाता है। इनवाइस बनकर तैयार थी, लेकिन हड़ताल होने के कारण एजेंसियां किसानों के खाते में रुपये नहीं भेज सकी। इसको लेकर किसान भी परेशान रहे। वह इस संबंध में क्रय केंद्र के कर्मचारियों को फोन लगाकर पूछताछ करते रहे।

इनका कहना है :

बैंकों की हड़ताल से लगभग 10 करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ है। हड़ताल गुरुवार को भी रहेगी। बैंक कर्मी वेतन वृद्धि समेत कई अन्य मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। शुक्रवार को बैंक खुलेंगे, इसके बाद ही व्यवस्था पटरी पर आएगी।

- दिनेश मिश्र, एलडीएम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:bank and atm closed, people unhappy