DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिमझिम फुहारों के बीच कांवरियों का जत्था रवाना

रिमझिम फुहारों के बीच कांवरियों का जत्था रवाना

1 / 3सावन महीने के दूसरे दिन भी मंदिर एवं शिवालयों में सुबह से ही घंट घड़ियाल के साथ बोल बम के जयकारे गूंजते रहे। बाबा के भक्तों ने विधि-विधान से पूजा-पाठ किया। इसके बाद शिवलिंग में जल भी चढ़ाया। रिमझिम...

रिमझिम फुहारों के बीच कांवरियों का जत्था रवाना

2 / 3सावन महीने के दूसरे दिन भी मंदिर एवं शिवालयों में सुबह से ही घंट घड़ियाल के साथ बोल बम के जयकारे गूंजते रहे। बाबा के भक्तों ने विधि-विधान से पूजा-पाठ किया। इसके बाद शिवलिंग में जल भी चढ़ाया। रिमझिम...

रिमझिम फुहारों के बीच कांवरियों का जत्था रवाना

3 / 3सावन महीने के दूसरे दिन भी मंदिर एवं शिवालयों में सुबह से ही घंट घड़ियाल के साथ बोल बम के जयकारे गूंजते रहे। बाबा के भक्तों ने विधि-विधान से पूजा-पाठ किया। इसके बाद शिवलिंग में जल भी चढ़ाया। रिमझिम...

PreviousNext

सावन महीने के दूसरे दिन भी मंदिर एवं शिवालयों में सुबह से ही घंट घड़ियाल के साथ बोल बम के जयकारे गूंजते रहे। बाबा के भक्तों ने विधि-विधान से पूजा-पाठ किया। इसके बाद शिवलिंग में जल भी चढ़ाया। रिमझिम फुहारों के बीच कांवरियों का जत्था भी बाबा बैजनाथ धाम जल चढ़ाने के लिए रवाना हुआ।

रविवार को भी सुबह से मंदिरों में भोलेनाथ का जयघोष शुरू हो गया। भक्तों ने महादेव का पूजन किया। इसके बाद जलाभिषेक भी किया। कड़ा के महाकालेश्वर मंदिर में भी सुबह से ही भक्तों का जनसैलाब उमड़ पड़ा। भक्तों ने विधि-विधान से पूजा किया। गंगा स्नान करने के बाद गंगा जल से शिवलिंग का जलाभिषेक किया। वहीं कांवरियों का जत्था बोल बम के जयकारे के साथ जल चढ़ाने के लिए बाबा धाम रवाना हुआ। उन्हें बाजे-गाजे के साथ विदाई दी गई।

बारिश पर भारी आस्था

मूरतगंज। जिले में हफ्ते भर से रुक-रुककर बारिश हो रही है। लेकिन बाबा के भक्तों की आस्था को बारिश डिगा नहीं पा रही है। मूरतगंज बाजार से संतोष कुमार, लल्लन, राजू, पिन्टू, उमेश, सोनू, राहुल समेत तमाम भक्त डीजे की धुन पर थिरकते हुए बोल बम के जयकारे के साथ बैजनाथ धाम के लिए रवाना हुए।

सिराथू से रवाना हुआ जत्था

रविवार को कांवरियों का जत्था बाबा धाम जल चढ़ाने के लिए रवाना हुआ। सुबह पांच बजे से ही स्टेशन पर कांवरिया एकत्रित होने लगे। इसके बाद ट्रेन में सवार होकर बोल बम के जयकारे के साथ कांवरियों का जत्था रवाना हुआ।

बुजुर्गों से आशीर्वाद लेकर निकले

ककोढ़ा चकिया गांव से भी कांवरियों का जत्था बैजनाथ धाम जल चढ़ाने के लिए रवाना हुआ। कांवरियों ने रवानगी से पहले गांव में घूम-घूमकर बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लिया।

दान-दक्षिणा के बाद दी गई विदाई

कसेंदा। चायल तहसील के फतेहपुर सहावपुर एवं कसेंदा गांव से कांवरियों का जत्था जल चढ़ाने के लिए रवाना हुआ। ग्रामीणों ने उन्हें दान-दक्षिणा देकर बाबा बैजनाथ धाम के लिए रवाना किया। कांवरियों के जत्थे में युवराज यादव, प्रदीप केसरवानी, बृजेंद्र, राजेंद्र, सुरेश पाल, अनिल एवं रामनरेश समेत तमाम लोग शामिल रहे।

कांवरियों का जगह-जगह स्वागत

इमामगंज। मूरतगंज ब्लॉक के कशिया पश्चिम गांव से भी कांवरियों का जत्था ग्राम प्रधान राजाराम की अगुवाई में जल चढ़ाने के लिए बैजनाथ धाम रवाना हुआ। डीजे की धुन पर कांवरियों का जत्था ग्रामीणों से आशीर्वाद लेकर निकला तो उन्हें विदा करने के लिए ग्रामीण भी हाईवे तक गए। उनका जगह-जगह स्वागत किया गया। ग्राम प्रधान के अलावा संदीप, रामचंद्र, प्रदीप, शनि, गुड्डू, दीप, बब्लू एवं संतोष आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:A group of kaweriya going to baba dham