ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कौशाम्बीविकास भवन में 12 अधिकारी और 26 कर्मचारी मिले गैरहाजिर

विकास भवन में 12 अधिकारी और 26 कर्मचारी मिले गैरहाजिर

मुख्य विकास अधिकारी रवि किशोर त्रिवेदी ने शुक्रवार की सुबह विकास भवन में संचालित 20 विभागों के कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें 12...

विकास भवन में 12 अधिकारी और 26 कर्मचारी मिले गैरहाजिर
हिन्दुस्तान टीम,कौशाम्बीFri, 24 May 2024 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

मुख्य विकास अधिकारी रवि किशोर त्रिवेदी ने शुक्रवार की सुबह विकास भवन में संचालित 20 विभागों के कार्यालयों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें 12 अधिकारी और 26 कर्मचारी अनुपस्थित मिले। सभी से स्पष्टीकरण मांगा गया है।
लोकसभा चुनाव 20 मई को सकुशल सम्पन्न होने के बाद भी विकास भवन समेत विभिन्न विभागों के कार्यालय गुलजार नहीं हो सके थे। 21 व 22 मई को कार्यालयों में अघोषित अवकाश का माहौल रहा। ऐसे में फरियादियों को संबंधित कार्यालयों से बैरंग लौटना पड़ रहा था। आपके अपने हिन्दुस्तान अखबार ने शुक्रवार के अंक में ‘तीन दिन बाद भी नहीं उतरी अफसरों में चुनाव की खुमारी शीर्षक से खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया। खबर का असर रहा कि मुख्य विकास अधिकारी डॉ. रवि किशोर त्रिवेदी ने शुक्रवार की सुबह निरीक्षण किया। इसमें जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी कार्यालय में अजय कुमार राय, एडीएसटीओ व कनिष्ठ सहायक जितेंद्र कुमार यादव अनुपस्थित मिले। जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में दिलीप कुमार गायब मिले। कर्मचारियों में घनश्याम सिंह वरिष्ठ सहायक, अंशुमान सिंह वरिष्ठ सहायक, कौशलेश सिंह कनिष्ठ सहायक, समरीन फात्मा कनष्ठि सहायक, शरद यादव कनिष्ठ सहायक व बचई लाल चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अनुपस्थित रहे। डीपीआरओ कार्यालय में डीपीआरओ समेत वेद प्रकाश ओझा सम्बद्ध सेक्रेटरी, सुरेश कुमार डीपीएम अनुपस्थित रहे। जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी कार्यालय में विभागाध्यक्ष अश्वनी कुमार समेत वरिष्ठ सहायक गीता सक्सेना व कनिष्ठ सहायक नरेंद्र तिवारी अनुपस्थित मिले। जिला ग्राम्य विकास अभिकरण कार्यालय में सफाई कर्मी शिवमिलन व रामयश अनुपस्थित रहे।

इसी तरह जिला खाद्य विपण अधिकारी सुधांशु शेखर भी गैरहाजिर थे। अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी सुनीता मंडार भी निरीक्षण के दौरान गायब रहीं। डीपीओ कार्यालय में पत्रवाहक प्रेम प्रकाश व वाहन चालक घनश्याम मौर्य अनुपस्थित रहे। सहायक अभियंता लघु सिंचाई कार्यालय में संजय उपाध्याय व सर्वे अमीन अनुपस्थित रहे। मत्स्य पालक विकास अभिकरण कार्यालय व सीवीओ कार्यालय में अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित मिले। जिला ग्रामोद्योग अधिकारी कार्यालय में विभागाध्यक्ष अनुपस्थित मिले जबकि सहायक विकास अधिकारी मनीष कुमार व आशु लिपिक धर्मेंद्र कुमार व अनिल कुमार आकस्मिक अवकाश पर थे। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता कार्यालय में सहायक आयुक्त डीएन प्रसाद अनुपस्थित रहे। इनके अलावा सीओ अनुपम कुमार व वरिष्ठ सहायक मीना कुमारी अनुपस्थित रहीं। उपायुक्त श्रम कार्यालय में अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी मनरेगा अनुपस्थित रहे।

जिला समन्वयक कौशल विकास मिशन कार्यालय में डीएसएम दीपक मौर्य व डाटा आपरेटर शनि कुमार अनुपस्थित रहे। जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल अधिकारी भी कार्यालय से गायब मिले। एक्सईएन ग्रामीण अभियंत्रण विभाग कार्यालय में एक्सईएन समेत सभी कर्मचारी उपस्थित रहे।

संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर होगी कार्रवाई

जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में डीपीओ नीरज कुमार समेत वरिष्ठ सहायक रामकृपाल व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राहुल कुमार सीडीओ को अनुपस्थित मिले। जिला सेवा योजना अधिकारी गौतम घोष अनुपस्थित मिले और उनके कार्यालय में ताला बंद मिला। इसी तरह जिला समन्वयक नेहरू युवा केंद्र कार्यालय में भी ताला बंद मिला। सीडीओ ने अनुपस्थित सभी 12 विभागाध्यक्षों से सप्ताहभर के भीतर स्पष्टीकरण तलब किया है। इतना ही नहीं उन्होंने अनुपस्थित कर्मचारियों से स्पष्टीकरण लेने का निर्देश संबंधित विभागाध्यक्षों को दिया है। हिदायत दिया कि स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं होने पर संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।