DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर  ›  कानपुर के बिठूर में युवक की गला रेतकर हत्या, धड़ हुआ अलग
कानपुर

कानपुर के बिठूर में युवक की गला रेतकर हत्या, धड़ हुआ अलग

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:11 AM
कानपुर के बिठूर में युवक की गला रेतकर हत्या, धड़ हुआ अलग

बिठूर (कानपुर)। संवाददाता

बिठूर थाना क्षेत्र के मोहनपुरवा गांव में एक युवक की गला रेतकर हत्या कर दी गई। उसका शव घर के बाहर पड़ा मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस की छानबीन में अब तक दो बिन्दु सामने आए हैं। अवैध संबंध समेत गांव के ही कुछ अराजक तत्वों पर शक जताया गया है। शक के घेरे में आई महिला परिवार समेत फरार हो गई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

सुरेश उर्फ पुत्तन मौर्य (29) शटरिंग करता था। बुधवार देर शाम करीब सात बजे उसका शव घर के ठीक बाहर पड़ा मिला। उसके भाइयों ने शव को देखकर पुलिस को सूचना दी। मौके पर बिठूर पुलिस पहुंची। शव के पास एक थाली में मुर्गे के अवशेष रखे हुए थे। मृतक के एक हाथ में चाकू भी था। पुलिस ने उसके भाई रमेश और पिंटू से पूछताछ की लेकिन दोनों घटना को लेकर कोई जानकारी नहीं दे सके। सुरेश के गले में आगे से धारदार हथियार से इतनी तेज वार किया गया था कि उसकी गर्दन आधी लटक गई थी।

एसीपी कल्याणपुर दिनेश शुक्ला ने कहा कि मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है। कुछ तथ्य मिले हैं। पुलिस जल्दी ही इस घटना का खुलासा करते हुए आरोपितों को जेल भेजेगी।

आसपास घर फिर भी नहीं सुनी चीख

मोहनपुर गांव में मारे गए सुरेश के पिता यजुद्धि प्रसाद और मां का देहांत वर्षों पहले हो चुका है। तीनों भाइयों के घर आसपास हैं। तीनों घरों की दीवारें आपस में जुड़ी हुई हैं। उसके बाद भी दोनों भाई या उनके परिवार ने सुरेश की चीख नहीं सुनी न ही किसी ने घटना होते देखी, जबकि तीनों के घर इस तरह से बने हुए हैं कि घर के अंदर बैठकर दूसरे के घर के अंदर देखा जा सकता है।

अवैध संबंधों पर मिली जानकारी

घटना के बाद पुलिस ने क्षेत्र में पूछताछ की तो पता चला कि सुरेश के घर से तीस मीटर की दूरी पर एक परिवार रहता है। वहां रहने वाली महिला से उसके अवैध संबंध थे। इसे लेकर महिला के पति से मृतक का कई बार झगड़ा हुआ था और मामला पुलिस चौकी तक पहुंचा था। उस दौरान पुलिस ने समझौता करा दिया था। पुलिस जब महिला के घर पूछताछ के लिए पहुंची तो उसके घर पर ताला बंद था। वह परिवार सहित फरार थी।

गांव के सभी लड़के मीट खाने आते थे

भाई रमेश ने पुलिस को बताया कि सुरेश को मीट बहुत पसंद था और वह खुद बनाता था। उसके यहां अक्सर मीट बनता था और कई लड़के उसके यहां मीट खाने आते थे। पुलिस को इस बात पर भी आशंका है कि इन्हीं लड़कों से झगड़ा हुआ हो और मारपीट के दौरान हत्या हो गई हो।

तीन-चार लोग घटना में शामिल

फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। टीम ने खून के अलावा चाकू और थाली से फिंगर प्रिंट उठाए। टीम प्रभारी ने बताया कि मौके की स्थिति से अनुमान लगाया जा रहा है कि घटना में 3-4 लोग शामिल हो सकते हैं। उनका मानना है कि मृतक शरीर से मजबूत था। उसे अकेले मौत के घाट उतार पाना एक आदमी के बस की बात नहीं थी।

हत्या से पहले पी गई थी शराब

पुलिस ने जब सुरेश के घर की तलाशी ली तो मौके पर अंग्रेजी शराब की बोतल और चार गिलास मिले। इनमें थोड़ी शराब मौजूद थी। इससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि मौत से पहले सुरेश के साथ बैठकर लोगों ने शराब पी थी। घर से थोड़ी दूर पर भी पुलिस ने दो-तीन शराब की खाली बोतलें बरामद की हैं। वहीं शव के पास से पुलिस को दो जोड़ी चप्पलें मिली हैं, जिनमें एक जोड़ी मृतक की है।

संबंधित खबरें