water logging in kanpur will be monitored by govt - कानपुर बारिश में क्यों डूबा, जांच करेगा शासन DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर बारिश में क्यों डूबा, जांच करेगा शासन

कानपुर बारिश में क्यों डूबा, जांच करेगा शासन

बारिश के दौरान जलभराव से शहर क्यों डूबा, इसकी जांच अब शासन करेगा। नगर विकास मंत्री ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जल निगम के एमडी से जांच कराने का ऐलान किया और कहा कि सारे कारणों की रिपोर्ट मांगी जाएगी।

नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने यहां नगर निगम में समीक्षा बैठक में जलभराव व सीवरभराव के मुद्दे पर जल निगम और जलकल के अफसरों की क्लास ली। यह सवाल किया कि सीसामऊ नाले के सीवेज को एसटीपी तक ले जाने के लिए सीवर लाइन की सफाई ठीक से क्यों नहीं कराई गई? मैनहोल से गंदा पानी ओवरफ्लो क्यों हुआ? सीसामऊ नाले ओवरफ्लो होने की क्या वजहें थीं? नमामि गंगे परियोजना के तहत हो रहे कार्यों की मॉनीटरिंग में लापरवाही क्यों बरती गई? नगर निगम ने नाला सफाई कराने में कितनी ईमानदारी बरती? अफसरों से उन्होंने कहा कि सारे कारणों का पता लगाया जाएगा। जांच में सब कुछ साफ हो जाएगा।

बैठक के बाद नगर विकास मंत्री ने प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी दी कि जलभराव और सीवरभराव के कारणों की जांच के लिए व जल निगम के एमडी को कानपुर भेजेंगे। वही जांच की रिपोर्ट देंगे। इस मसले पर जल निगम के अध्यक्ष से भी वार्ता की जाएगी। रिपोर्ट आने के बाद तय होगा कि इस मामले में लापरवाही किसकी है।

चट्टों के सवाल को इस बार भी टाल गए: नगर विकास मंत्री इस बार भी शहर से चट्टों को हटाने के सवाल को टाल गए। दो साल पहले उन्होंने यह ऐलान किया था कि शहर में चट्टे नहीं रहेंगे, दो माह बाद हटा दिए जाएंगे। तीन माह बाद से ही वे इस मुद्दे को टाल रहे हैं। शनिवार को भी कुछ नहीं कहा, सिवाए इसके कि कैटिल कॉलोनी बनाना केडीए का काम है जो उनके विभाग में नहीं आता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:water logging in kanpur will be monitored by govt