DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परीक्षा केंद्रों को 100 मीटर दायरे में लगेंगे लाल झंडे

परीक्षा केंद्रों को 100 मीटर दायरे में लगेंगे लाल झंडे

यूपी बोर्ड की परीक्षा में नकल रोकने के लिए ग्रामीण क्षेत्र के केंद्रों के 100 मीटर दायरे में लाल झंडे लगाए जाएंगे। इस क्षेत्र में परीक्षा व्यवस्था से जुड़े लोगों के अतिरिक्त अन्य किसी के प्रवेश पर रोक रहेगी। नकल कराने वालों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी। मोबाइल लेकर आने वाले छात्रों पर 500 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। बीएनएसडी शिक्षा निकेतन में छह फरवरी से शुरू होने वाली हाईस्कूल-इंटरमीडिएट परीक्षा की तैयारी के लिए सोमवार को प्रशासनिक बैठक हुई। इसमें जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह, एसएसपी अखिलेश कुमार, एसपी ट्रैफिक सुशील कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक सतीश कुमार तिवारी, सह जिला विद्यालय निरीक्षक संगीता, नमिता सिंह और आरपी राजपूत ने केंद्र व्यवस्थापकों, पर्यवेक्षकों, उड़नदस्ते के सदस्यों, जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों आदि को परीक्षा व्यवस्था के संदर्भ में जानकारी दी। केंद्र के दायरे में कोई मूवमेंट नहीं : जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा व्यवस्था में लगे कक्ष निरीक्षकों से लेकर अफसरों तक के पास एक जैसा फोटोयुक्त पहचान पत्र रहेगा। एक फोटो पहचान पत्र पर और दूसरा रजिस्टर में चस्पा होगा। जोनवार रिकॉर्ड रखा जाएगा। शहर के ग्रामीण क्षेत्रों के 100 मीटर दायरे में जहां लाल झंडे लगे हों उसके अंदर कोई मूवमेंट नहीं होगी। यदि कोई दिखा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। परीक्षा शुरू होते ही बाबू-चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी सेंटर गेट के बाहर होंगे। फर्श पर गोबर का लेप करें : डीएम ने कहा कि परीक्षा ईंटों और कच्चे फर्श पर नहीं कराई जाएगी। यदि किसी केंद्र में कच्चा फर्श हो तो उस पर गोबर का लेप कर दें।चाबी स्टेटिक मजिस्ट्रेट को : डीएम ने कहा कि केंद्र व्यवस्थापक को छोड़ शेष किसी के पास मोबाइल नहीं रहेगा। शिक्षकों और छात्रों के लिए दो स्टील के बॉक्स बनाए जाएं जिसमें इनके मोबाइल रखकर ताला लगाया जाए। इसकी चाबी स्टेटिक मजिस्ट्रेट को दी जाए। जो छात्र मोबाइल लाएं उनसे 500 रुपये जुर्माना भी वसूला जाए। केंद्र व्यवस्थापक अगर मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उन पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट नजर रखेंगे।मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में खुलें पर्चे : डीएम ने कहा कि प्रश्नपत्र स्टेटिक मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में खोले जाएंगे। यहां मोबाइल पर इसका वीडियो भी तैयार किया जाएगा। अन्य तकनीकी संसाधनों से भी निगरानी रखी जाएगी जिसमें कॉल डिटेल आदि शामिल हैं। नकल पर जीरो टॉलरेंस : डीएम ने कहा कि जिस कक्ष में नकल मिलेगी, उसके निरीक्षक, एक से अधिक कक्ष पर केंद्र व्यवस्थापक और इसके बाद नकल मिलने पर अफसर भी जेल जाएंगे। जीरो टॉलरेंस पॉलिसी अपनाई जाएगी। बच्चों के शूज उतरवाने पर निर्णय स्वयं लें। नकल सामग्री नहीं का घोषणापत्र दें : एसएसपी अखिेलश कुमार ने कहा कि केंद्र व्यवस्थापक से लिखित घोषणा पत्र लें कि उनके सेंटर पर कोई नकल सामग्री नहीं है। यदि नकल मिली तो केंद्र व्यवस्थापक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। आगे गैंगस्टर की कार्रवाई भी होगी क्योंकि बिना आर्थिक लाभ के कोई नकल नहीं कराता। डॉ. अंगद सिंह ने स्वागत और संचालन गिरीश चंद्र मिश्र ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:up board exam centres'll have red flag