DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर  ›  वित्तविहीन शिक्षकों का मुद्दा पीएमओ तक पहुंचा
कानपुर

वित्तविहीन शिक्षकों का मुद्दा पीएमओ तक पहुंचा

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Fri, 11 Jun 2021 06:11 PM
वित्तविहीन शिक्षकों का मुद्दा पीएमओ तक पहुंचा

कानपुर। वरिष्ठ संवाददाता

यूपी बोर्ड से संबद्ध माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत वित्तविहीन शिक्षकों को कुशल श्रमिक के बराबर मानदेय का मुद्दा प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) तक पहुंच गया है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर इस पर कार्रवाई करते हुए जानकारी देने को कहा है।

माध्यमिक शिक्षक संघ (पांडेय गुट-बाबा) के महामंत्री हरिश्चंद्र दीक्षित ने मई माह में प्रधानमंत्री को पत्र भेजा था जिसमें वित्तविहीन शिक्षकों की खस्ताहाल स्थिति के बारे में जानकारी दी गई थी। शिक्षक नेता ने एक शासनादेश का हवाला देते हुए कहा था कि इसमें वित्तविहीन शिक्षकों को कुशल श्रमिक माना गया है। ऐसे में इन्हें कोषागार से मानदेय दिलाया जाए।

एक्शन की जानकारी भी दें

पीएमओ के सेक्शन अफसर की ओर से चीफ सेक्रेट्री को भेजे पत्र में शिक्षक नेता की ओर से भेजी गई रिट पर कार्रवाई कर जवाब मांगा है। शिक्षक नेता के पास पीएमओ से आए पत्र के आधार पर उन्होंने प्रदेश के चीफ सेक्रेट्री को दिए पत्र में नियमों व शासनादेशों का हवाला देते हुए कहा है कि वे वित्तविहीन शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को कुशल श्रमिक के बराबर राजकीय कोषागार से मानदेय दे सकते हैं। इससे इनकी कोरोना काल के कारण बिगड़ी हालत में सुधार संभव है।

संबंधित खबरें