DA Image
29 सितम्बर, 2020|1:18|IST

अगली स्टोरी

नहाय खाय के साथ छठ महापर्व की खुशियां छाईं

पहले दिन नहाय खाय के साथ छठ महापर्व शुरू हो गया। सुबह से ही घरों का माहौल भक्तिमय रहा। शुक्रवार को महिलाएं खरना का व्रत रखेंगी। डाला फल-फूल, सब्जियों और पूजन सामग्री से सजाने की तैयारी शुरू हो गई है। शनिवार को घाटों पर माई के गीतों और मनमोहक छटा के बीच अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।  


प्रकृति से जुड़े अनूठे महापर्व की रौनक छा चुकी है। कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को सुबह से ही घरों में पूजा की तैयारी शुरू हो गई। व्रती महिलाओं ने स्नान कर नए वस्त्र पहन पूजा-अर्चना की। व्रती महिला के भोजन करने के बाद ही पूरे परिवार ने भोजन ग्रहण किया। इसी के साथ ही पूरा परिवार छठ डाला की तैयारी में जुट गया।


आचार्य ब्रह्मदत्त शुक्ल का कहना है कि छठ महापर्व चार दिन मनाया जाएगा। दूसरे दिन खरना व्रत होगा। तीसरे दिन डूबते सूर्यदेव को अर्ध्य दिया जाएगा। चौथे दिन उगते सूर्य को अर्ध्य दिया जाता है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The happiness of Chhath Mahaparva with Nahai Khay