अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राम मेडिकल कॉलेज में नकल से रोकने पर छात्रों का बवाल, लाठीचार्ज

डीअाईजी सोनिया सिंह पहुंची मौके पर।

मंधना स्थित रामा मेडिकल कॉलेज में नकल से रोकने पर भड़के छात्र-छात्राओं ने मंगलवार को जमकर बवाल किया। परिसर में घूम-घूमकर तोड़फोड़ की। लैब में घुसकर सारा सामान तहस-नहस कर दिया। उपद्रव रोकने पहुंची पुलिस पर पथराव कर दिया। दरोगा और सिपाहियों से मारपीट की गई। पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया तो छात्रों ने भी मोर्चा ले लिया। एक घंटे तक संघर्ष चला। डीआईजी ने छात्र-छात्राओं से बातचीत कर मामला शांत कराया गया। पुलिस ने सर्च ऑपरेशन चलाकर कई छात्रों को हिरासत में ले लिया है। मारपीट व पथराव में दरोगा, सिपाही और छात्र-छात्राएं जख्मी हो गए हैं। घायल पुलिसकर्मियों का मेडिकल कराया गया है। उधर, हालात गंभीर देखते हुए नर्सिंग डिप्लोमा परीक्षा निरस्त कर दी गई है। आगे की तिथि स्टेट मेडिकल फैकल्टी की ओर से तय की जाएगी। डीअाईजी सोनिया सिंह ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। बवालियों की पहचान की जा रही है। नकल के आरोप भी लगे हैं। इस बिंदु की किसी ने लिखित शिकायत नहीं की है। उपद्रव की वजह की छानबीन की जा रही है।
छात्रों ने लैब रूम तहस-नहस कर डाला।
छात्रों को हिंसक होते ही भाग खड़े हुए शिक्षक
मंगलवार को मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग डिप्लोमा एएनएम जेएनएम की परीक्षा थी। कॉलेज प्रबंधन ने कई छात्र-छात्राओं के बैग रखवा लिए और अंदर किसी भी तरह की किताब, कागज, गाइड और नोट्स ले जाने पर रोक लगा दी। बड़ी संख्या में छात्र एकजुट हो गए और तलाशी का विरोध शुरू कर दिया। मामला तूल पकड़ने पर छात्रों ने ऐलान कर दिया कि नकल नहीं तो परीक्षा नहीं देंगे। ऐसे में टकराव की स्थिति आ गई। शिक्षकों और कर्मचारियों के रोकने पर छात्र उग्र हो गए। लगभग 400 स्टूडेंट्स ने परीक्षा का बहिष्कार कर दिया। शिक्षकों ने समझाया तब तक कई छात्र बवाल पर उतारू हो गए और लैब सेंटर का फर्नीचर पलटना शुरू कर दिया। छात्रों को हिंसक होता देख टीचर और कर्मचारी बचाव की मुद्रा में आ गए। इस दौरान छात्रों ने लैब सेंटर का सामान, कुर्सी, मेज पलटकर तोड़फोड़ शुरू कर दी। पत्थर चलाकर खिड़की के कांच और दरवाजे तोड़ दिए। सूचना के बाद फोर्स के साथ पहुंचे सीओ ने छात्रों को रोकने का प्रयास किया तो बवालियों ने पुलिस पर ही हमला कर दिया। करीब एक घंटे तक पुलिस-छात्रों में संघर्ष होता रहा। इस बीच छात्र हॉस्टल की छतों पर पहुंच गए और पत्थर चलाने शुरू कर दिए। 

छात्राअों से बात करते डीएम अौर डीअाईजी।
छात्राओं ने मुंह में कपड़ा बांधकर लिया मोर्चा
कई छात्राएं भी हॉस्टल की छत पर चढ़ गईं। उन्होंने मुंह पर कपड़ा बांधकर बवाल किया। महिला सिपाहियों से भिड़ने वाली छात्राएं भी मुंह पर कपड़ा बांधे थीं। छात्राओं ने भी घूम-घूमकर कैंपस में नारेबाजी भी की। उधर, बवाल की सूचना पर  कल्याणपुर सर्किल समेत कई थानों की फोर्स कॉलेज पहुंच गई तो छात्र और भड़क उठे। छात्रों के पथराव करने पर पुलिस ठिठक गई। कई सिपाही और छात्रों में धक्कामुक्की और मारपीट हुई। छात्राएं महिला सिपाहियों से मारपीट करने लगीं। माहौल बिगड़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया तो छात्र-छात्राओं ने भागकर हॉस्टल से मोर्चा लिया। पथराव से बचने के लिए पुलिस को पोजीशन लेनी पड़ी। कुछ ही देर में पूरा कॉलेज छावनी में तब्दील हो गया।
पुलिस ने बमुश्किल काबू पाया।
जैसे-तैसे मामला शांत कराया
छात्रों व पुलिस से संघर्ष की जानकारी मिलते हीडीआईजी सोनिया सिंह भी मौके पर पहुंच गई। उन्होंने छात्र-छात्राओं से बात कर मामला शांत कराया। दोनों पक्षों से बात कर घटना की जानकारी ली। बवाल में कई महिला सिपाही, दरोगा व दो दर्जन छात्र-छात्राएं जख्मी हुए हैं। कॉलेज डायरेक्टर डॉ. अन्नू सिंह ने परीक्षा निरस्त करने की बात कही। एएनएम और जेएनएम के तीसरे और चौथे वर्ष की परीक्षा मंगलवार से शुरू हुई थी। पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। बवाली छात्रों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की तैयारी चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:students ruckus in ram medical college in kanpur