DA Image
29 जनवरी, 2020|2:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इटावा सफारी में बनेगा प्रदेश का पहला लैपर्ड रेस्क्यू सेंटर

इटावा सफारी में प्रदेश का पहला लैपर्ड रेस्क्यू सेंटर बनाया जाएगा। इसकी कवायद तेज हो गई है। जमीन का चह्निीकरण व नक्शा बनाने के बाद इसकी डीपीआर भी शासन को भेज दी गई है। बुधवार को हुई बैठक के बाद ऐसी संभावना है कि इसी माह इसे हरी झंडी मिल जाएगी।


पिछले दिनों से प्रदेश के विभन्नि शहरों के जंगलों से लैपर्ड आने व लोगों को परेशान करने की शिकायतें मिली हैं। लैपर्ड को रखने के लिए यूपी में अभी तक कोई जगह नहीं है। यह बड़ी समस्या है कि इन्हें पकड़ने के बाद रखा कहां जाए। इसके चलते इटावा सफारी में लैपर्ड रेस्क्यू सेंटर बनाए जाने का नर्णिय लिया गया है। इस संबंध में सफारी के डायरेक्टर वीके सिंह ने पिछले दिनों महाराष्ट्र स्थित जूनागढ़ व अन्य स्थानों का दौरा किया था। यहां उन्होंने लैपर्ड रेस्क्यू सेंटर भी देखा। इटावा सफारी में भी इस सेंटर को बनाए जाने की कवायद तेज हो गई है। बताया कि सफारी में क्वारेन टाइन हाउस के पास खाली पड़ी जमीन पर लैपर्ड रेस्क्यू सेंटर बनाया जाएगा। शुरुआती दौर में 6 हेक्टेयर की जगह में इस सेंटर को बनाने की तैयारी है। 

क्वारेन टाइन हाउस में रखे जाते हैं वन्यजीव
सफारी में क्वारेन टाइन हाउस सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। जो भी वन्यजीव बाहर से यहां लाए जाते हैं उन्हें शुरुआती तीन हफ्ते तक क्वारेन टाइन हाउस में ही रखा जाता है। धीरे-धीरे यह वन्यजीव सफारी के माहौल के अभ्यस्त हो जाते हैं, तब इन्हें इनकी सफारी में छोड़ा जाता है। 

आईआईटी कानपुर ने की लैपर्ड सफारी की मरम्मत 
सफारी पार्क में लैपर्ड सफारी पहले से ही बन चुकी है। यहां तीन लैपर्ड लाए भी जा चुके हैं। हालांकि इसे अभी पर्यटकों के लिए खोला नहीं गया है। आईआईटी कानपुर के विशेषज्ञों की मदद से लैपर्ड सफारी की मरम्मत कराए जाने के बाद इसे दुरुस्त कर लिया गया है। रेस्क्यू सेंटर के साथ ही सफारी पार्क में लैपर्ड सफारी का होना भी एक प्लस प्वाइंट माना जा रहा है। इससे यहां लैपर्ड की देखरेख बेहतर तरीके से हो सकेगी।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:State first Leopard Rescue Center to be built in Etawah Safari