ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश कानपुरकानपुर देहात में एक लाख से अधिक किसानों की रुक जाएगी सम्मान निधि

कानपुर देहात में एक लाख से अधिक किसानों की रुक जाएगी सम्मान निधि

कानपुर देहात। लाभार्थी परक योजनाओं में ई-केवाईसी व आधार प्रमाणीकरण न काराने वाले ...

कानपुर देहात में एक लाख से अधिक किसानों की रुक जाएगी सम्मान निधि
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,कानपुरMon, 01 Aug 2022 01:15 AM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर देहात। लाभार्थी परक योजनाओं में ई-केवाईसी व आधार प्रमाणीकरण न काराने वाले लाभार्थियों को अब मुसीबत उठानी पड़ेगी। 31 जुलाई की तारीख खत्म होने के बाद भी किसान सम्मान निधि के 65 फीसदी ही लाभार्थियों ने ई-केवाईसी कराया है। वहीं वृद्धावस्था पेंशन में भी 58 फीसदी बुजुर्ग आधार प्रमाणीकरण से दूर हैं। अब इनकी सम्मान निधि व पेंशन रुक जाएगी।

किसान सम्मान निधि और वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों के लिए पिछले करीब 6 महीने से ई-केवाईसी व आधार प्रमाणीकरण का काम चल रहा था, लेकिन जनपद में तमाम प्रयासों और ब्लॉक स्तर तक शिविर लगाए जाने के बाद भी बड़ी संख्या में लाभार्थी अपने आधार प्रमाणीकरण से दूर बने रहे। कई बार तारीख बढ़ाए जाने के बाद भी इसमें रुचि न लेने से अब उनकी सम्मान निधि और वृद्धावस्था पेंशन रुकना तय हो गया है। वहीं, जिले के अफसर अभी कुछ समय और मिलने की उम्मीद लगाए बैठे हैं।

35 फीसदी किसानों ने अब तक नहीं कराया ई-केवाईसी

जनपद में किसान सम्मान निधि पाने वाले किसानों की संख्या 3 लाख 21 हजार 254 है। ई-केवाईसी कराने के लिए दो बार शासन की ओर से समयावधि बढ़ाए जाने के बाद भी अब तक महज 65 फीसदी यानी कुल 2 लाख 11 हजार 153 लोगों का ही ई-केवाईसी हो सका है। अभी भी 1 लाख 10 हजार 101 लोगों का ई-केवाइसी होना शेष है। इसके अलावा किसानों के भूलेख सत्यापन का भी काम चल रहा है। इसकी गति भी बेहद सुस्त रही। भू-लेख सत्यापन की भी अंतिम तिथि 31 जुलाई ही थी। इससे अब इसमें एक बार और तारीख बढ़ने की उम्मीद है। उपनिदेशक कृषि विनोद यादव ने बताया कि अभी शासन की ओर से तारीख बढ़ने की कोई सूचना नहीं आई है। ई-केवाईसी न कराने वाले किसानों की सम्मान निधि की अगली किस्त रुकना तय है।

सत्यापन न कराने वाले 41 हजार बुजुर्गों को नहीं मिलेगी पेंशन

जनपद में समाज कल्याण विभाग की ओर से आश्रयहीन बुजुर्गों को पेंशन दी जाती है। इसमें जिले में इस वक्त 77 हजार 760 बुजुर्गों को पेंशन दी जा रही है। आधार प्रमाणीकरण अभियान के तहत बीते तीन महीने में 36670 लाभार्थियों ने ही अपना आधार प्रमाणी करण कराया है। समय सीमा बीतने के बाद भी 41हजार लाभार्थियों के आधार का प्रमाणीकरण नहीं हो सका है। जिला समाज कल्याण अधिकारी डा. प्रज्ञा शंकर ने बताया कि लाभार्थियों के लिए ब्लॉक और न्याय पंचायत स्तर पर भी शिविर लगाए गए, लेकिन इसकी गति बेहद सुस्त रही है। यहां सिर्फ 42 फीसदी लोगों ने ही आधार प्रमाणीकरण कराया है। शासन से अभी कोई तारीख नहीं बढ़ी है। वह व्यक्तिगत रूप से कुछ और समय के लिए मांग कर रहीं हैं।

बड़ी संख्या में अपात्र होने की संभावना

लाभार्थी परक योजनाओं में आधार प्रमाणीकरण के लिए ब्लॉक स्तर पर शिविर लगाने व जनसेवा केन्द्रों के माध्यम से भी सहूलियत दिए जाने के बाद भी अब तक हजारों लाभार्थियों के आधार न जमा करने के पीछे उनके अपात्र होने की भी संभावना जताई जा रही है। इसके कारण भी बड़ी संख्या में लोगों ने आधार प्रमाीण करण नहीं कराया है।

epaper