DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर  ›  कानपुर के स्कूलों के खेल प्रशिक्षकों की गुहार, खुद तो फीस ले रहे पर हमें वेतन नहीं दे रहे

कानपुरकानपुर के स्कूलों के खेल प्रशिक्षकों की गुहार, खुद तो फीस ले रहे पर हमें वेतन नहीं दे रहे

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Sat, 12 Jun 2021 04:33 AM
कानपुर के स्कूलों के खेल प्रशिक्षकों की गुहार, खुद तो फीस ले रहे पर हमें वेतन नहीं दे रहे

कानपुर। वरिष्ठ संवाददाता

पब्लिक स्कूलों में तैनात अंशकालिक खेल प्रशिक्षक भी वेतन व मानदेय न मिलने से आर्थित तंगी का शिकार हो चले हैं। शुक्रवार को सीबीएसई और सीआईएससीई स्कूलों के प्रशिक्षक एकजुट हुए और मुख्यमंत्री को नामित एक मांगपत्र जिलाधिकारी को सौंपा। इसमें प्रशिक्षकों ने कहा कि जब से कोरोना महामारी आई, तब से उन्हें स्कूलों ने वेतन या मानदेय नहीं दिया। स्कूल फीस ले रहे हैं लेकिन उन्हें वेतन या मानदेय नहीं दे रहे हैं।

प्रशिक्षकों ने एक शासनादेश का हवाला देते हुए कहा कि सरकार ने स्कूलों से वेतन देने को कहा है पर वे ऐसा नहीं कर रहे हैं। इससे उनकी आर्थिक स्थिति बेहद खराब हो गई है। मांगपत्र सौंपने वालों में उपेंद्र पांडेय, अश्वनी गुप्ता, वैभव गौर, कुलदीप कुमार, एमपी सिंह, प्रयाग सिंह, विनय दत्ता आदि शामिल थे।

संबंधित खबरें