DA Image
7 अप्रैल, 2020|2:36|IST

अगली स्टोरी

कोरोना के इलाज को मेडिकल कॉलेज को बनाया मंडल का केन्द्र

default image

कोरोना के इलाज को लेकर मेडिकल कॉलेज और उससे सम्बद्ध अस्पतालों को मंडल का केन्द्र बनाया गया है। मंडल के जिला अस्पतालों में अगर संक्रमित मरीज अति गंभीर यानी दूसरी श्रेणी में बीमार है तो उसे हैलट रेफर किया जाएगा। प्रथम श्रेणी के मरीजों को सम्बंधित जिला अस्पतालों में ही आइसोलेशन वार्ड में इलाज मिलेगा। पीजीआई के डॉक्टरों को इसकी मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसलिए संभावित खतरे को देखते हुए मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने डॉक्टरों की कई टीमें बनाई गई हैं। इनमें मेडिसिन, एनेस्थिसिया विशेषज्ञ और चेस्ट रोग विशेषज्ञ शामिल हैं। इंटेंसिव केयर स्पेशिएलिस्ट को हर टीम का प्रभारी बनाया गया है।

कार्डियोलॉजी का न्यू ओपीडी ब्लाक भी क्वारंटाइन के काम आएगा: अधिकारियों के मुताबिक अगर क्वारंटाइन में रहने वालों की संख्या बढ़ी तो कार्डियोलॉजी में भी सुविधाएं की जा सकती हैं। इसके लिए तैयार रहने को कहा गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Medical college made Mandal 39 s center for treatment of corona