DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर-झांसी रूट पर ट्रैक के चेंज ओवर प्वाइंट पर लहराती हैं ट्रेनें

झांसी से कानपुर तक रेलवे ट्रैक के चेंज ओवर प्वाइंटों पर ट्रेनें लहराती हैं। खड़खड़ाहट की तेज आवाज के साथ झटके भी लगते हैं। इसका खुलासा उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक (जीएम) राजीव चौधरी के विंडो ट्रॉली निरीक्षण में हुआ। इस पर जीएम ने डीआरएम को निर्देश दिया कि चेंज ओवर प्वाइंटों को बदलवाया जाए। साथ ही यार्ड के अनुरक्षण का कार्य संरक्षा के हिसाब से कराया जाएगा। जीएम शनिवार को गोरखपुर-यशवंतपुर एक्सप्रेस से निरीक्षण करते दोपहर बाद झांसी से कानपुर सेंट्रल पहुंचे। पुखरायां और ऐरक रोड स्टेशन के आउटरों पर ट्रैक पर लहराव दिखा। इसकी वजह से इस प्वाइंट से ट्रेन के निकलने पर उछाल भी महसूस हुआ। जीएम ने डीआरएम से कहा कि मेन से लूपलाइन पर ट्रेन जाने पर लगने वाले क्रॉसिंग प्वाइंटों को दुरुस्त किया जाए। इनमें खामी से भी ट्रेनें डिरेल होती हैं। कानपुर सेंट्रल पर पहुंचते ही उनके सैलून को गोरखपुर-यशवंतपुर से हटाकर सीमांचल एक्सप्रेस में जोड़ दिया गया। इस दौरान कानपुर सेंट्रल के डिप्टी सीटीएम एचएस उपाध्याय, वरिष्ठ स्टेशन अधीक्षक आरएनपी त्रिवेदी, दिवाकर तिवारी सहित कई लोग मौजूद रहे। विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण : जीएम ने ट्रेन के पीछे जुड़े विशेष कोच की पिछली खिड़की से विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण किया। यह विशेष निरीक्षण होता है। रेल पथ एवं उसके पास के सभी इंस्टालेशनों जैसे सिग्नल, ओएचई, प्लेटफॉर्म आदि का चलती हुई गाड़ी में लगे निरीक्षण यान की पिछली खिड़की से निरीक्षण किया जाता है। इस दौरान मार्ग में पड़ने वाले स्टेशनों की सफाई एवं अन्य व्यवस्थाओं, राइडिंग क्वालिटी विशेष तौर से प्वॉइंट एवं क्रॉसिंग पर ट्रैक ज्योमेट्री इंडेक्स में सुधार, ओएचई की स्थिति का भी आकलन किया। अनैतिक तरीके से न फांदें ट्रैक: जीएम को कई जगह रेलवे लाइन किनारे कबाड़ पड़ा दिखा। साथ ही कई जगह बिना क्रॉसिंग के लोग ट्रैक फांदते हुए निकल रहे थे। उन्होंने संबंधित अफसरों से कहा कि कबाड़ को तत्काल हटवा दिया जाए। आम लोगों से अपील की कि रेलवे गेटों से निकलें। इसके लिए ट्रैक की पेट्रोलिंग नियमित कराई जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Kanpur Jhansi route inspection by GM