DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कलंक के खिलाफः अगर आप भ्रष्ट अफसरों से परेशान हैं तो लिखे हमें...

भ्रष्ट अफसरों की अाएगी शामत।

कानपुर की जनता के लिए अच्छी खबर है। भ्रष्ट अफसरों पर नकेल कसने के लिए जिलाघिकारी सुरेंद्र सिंह ने एक अच्छी पहल की है। भ्रष्ट अफसरों की शिकायत करने के लिए अब जनता को सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे। डीएम कार्यालय पर लगाई गई शिकायत पेटिका में संबंधित अफसर का काला चिट्ठा डालना होगा। 
कानपुर के भ्रष्ट अफसरों पर कसेगी नकेल 
जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने हिन्दुस्तान को बताया कि जनता कई बार जनता भ्रष्ट अफसरों की शिकायत इसलिए नहीं कर पाती क्योंकि वह डरती है। उन्हें भय होता कि कहीं, दागी अफसर कहीं उन्हें डरा धमका न दें। इन सबको देखते हुए अब एक एेसी प्रक्रिया शुरू की गई है जिसमें यदि शिकायतकर्ता चाहता है कि उसका नाम गोपनीय रखा जाए तो ऐसा ही होगा। उन्होंने बताया कि शिकायत पेटिका में आने वाली शिकायतें सीधे मेरे पास आएंगी। इसके बीच इसको कोई भी नहीं देख सकता है। बॉक्स के ताले की चाबी एडीएम स्तर के अफसरों के पास होगी। डीएम सुरेंद्र सिंह ने बताया कि शिकायत आलाधिकारी से लेकर चपरासी तक की जा सकती है। उन्होंने बताया कि किसी अफसर पर यदि भ्रष्टाचार का आरोप लगा है तो पहले प्रूफ की जांच करायी जाएगी।
सभी तहसीलों में इस तरह के बॉक्स रखे जाएंगे
इस पहल से भ्रष्ट अफसरों पर लगाम कसी जाएगी और सख्त कार्रवाई भी शासन स्तर से हो सकेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि कानपुर कार्यालय के साथ-साथ सभी तहसीलों में इस तरह की शिकायत पेटिकाएं लगाई जाएंगी। सभी एसडीएम को इस संबंध में आदेश दे दिया गया। दरअसल दूर दराज से आने वाले शिकायतकर्ताओं को काफी परेशानी होती है। इसलिए तहसील में लगे इन बॉक्स में अपनी शिकायत डाल सकते हैं। तहसील में प्रत्येक सप्ताह इन शिकायतों को देखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:kanpur corrupt officer scared from this box engaged in dm office