ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कानपुरकबीर महोत्सव: बुराइयों और कुरीतियों को दूर करना है तो कबीर की शिक्षा मानें

कबीर महोत्सव: बुराइयों और कुरीतियों को दूर करना है तो कबीर की शिक्षा मानें

कानपुर। सद्गुरु कबीर प्रकट दिवस पर आयोजित कबीर महोत्सव समारोह में वक्ताओं ने कहा कि हमें सामाजिक बुराइयों और कुरीतियों...

कबीर महोत्सव: बुराइयों और कुरीतियों को दूर करना है तो कबीर की शिक्षा मानें
default image
हिन्दुस्तान टीम,कानपुरSat, 22 Jun 2024 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर। सद्गुरु कबीर प्रकट दिवस पर आयोजित कबीर महोत्सव समारोह में वक्ताओं ने कहा कि हमें सामाजिक बुराइयों और कुरीतियों को दूर करने के लिए कबीर साहब की बताई शिक्षा पर अमल करना चाहिए। इससे हम जीवन में सफल हो सकेंगे। हमें भगवान को सुख-दुःख हर समय याद करना चाहिए।

स्टॉक एक्सचेंज ऑडिटोरियम में शनिवार को रोटरी क्लब और श्री सद्गुरु कबीर धर्मदास साहब वंशावली प्रतिनिधि सभा के संयुक्त कबीर प्रकटोत्सव दिवस समारोह के मुख्य अतिथि मणिकांत जैन ने कहा कि 'कबीरा खड़ा बाजार में मांगी सबकी खैर ना काहू से दोस्ती, न काहू से बैर' का संदेश दिया। विशिष्ट अतिथि मुकुल तिवारी ने कहा कि कबीर जी ने सद्भाव पर अधिक जोर दिया। शहीद कैप्टन आयुष यादव के पिता अरुण कांत यादव, श्री गुरु सिंह सभा के प्रधान सरदार हरविंदर सिंह लार्ड ने कहा, हमें अपनी वाणी को हमेशा संयमित रखना चाहिए। महंत बन्दना, उमा शुक्ला, जेपी सिंह ने भी विचार व्यक्त किए। आचार्य योगेश महाराज ने कबीर भजन प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। यहां शशांक सोनी, गणेश तिवारी, डॉ. पवन कुमार तिवारी, पीएन जैन, श्याम मेहरोत्रा, अभिनव तिवारी, दिनेश अवस्थी, साधना सिंह, बीना उदय, राजीव अग्रवाल, गौरव तिवारी, सुरेन्द्र गुप्ता रहे। संयोजन निरुपमा सिंह चौहान और संचालन डॉ. गायत्री सिंह ने किया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।