ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कानपुररक्षा हथियारों को साइबर सुरक्षित रखेगा आईआईटी

रक्षा हथियारों को साइबर सुरक्षित रखेगा आईआईटी

कानपुर। आईआईटी के वैज्ञानिक अब एयरोस्पेस व रक्षा हथियारों को साइबर सुरक्षित बनाएगा। इसको लेकर संस्थान के सी3आई हब और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड...

रक्षा हथियारों को साइबर सुरक्षित रखेगा आईआईटी
default image
हिन्दुस्तान टीम,कानपुरTue, 23 May 2023 05:55 PM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर। आईआईटी के वैज्ञानिक अब एयरोस्पेस व रक्षा हथियारों को साइबर सुरक्षित बनाएगा। इसको लेकर संस्थान के सी3आई हब और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड (टीएएसएल) के बीच एक समझौता हुआ है। इसके तहत टाटा कंपनी में बनने वाले सभी डिफेंस के हथियारों को साइबर हमलों से सुरक्षित रखने की तकनीक विकसित करेगा। जल्द दोनों संस्थान के विशेषज्ञ मिलकर काम शुरू करेंगे।

आईआईटी में हुए इस समझौते पर सी3आई हब की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ. तनिमा हाजरा व टीएएसएल के प्रमुथ हथियार, सेंसर व सुरक्षा सुरेश बरोथ ने हस्ताक्षर किया। इस समझौते के बाद रक्षा क्षेत्र में लगातार विकसित हो रहे साइबर खतरों से उत्पन्न चुनौतियों का समाधान करने के लिए विशेषज्ञ तकनीक विकसित करेंगे।

सी3आई हब के परियोजना निदेशक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि केंद्र में साइबर सुरक्षा को लेकर वैज्ञानिक लगातार काम कर रहे हैं। देश को हर सेक्टर में साइबर हमलों से सुरक्षित रखने के लिए यह समझौता किया गया है। टीएसएल के सुरेश बरोथ ने कहा कि कंपनी भारतीय सशस्त्र बलों के लिए विभिन्न प्रकार के हथियार प्रणालियां बना रही है, जिन्हें अब साइबरप्रूफ व साइबर सुरक्षित बनाने पर परीक्षण किया जाएगा। इस मौके पर टीएएसएल के डॉ. जितेंद्र मोहन भारद्वाज, यतन मिश्रा, संजय रस्तोगी व सी3आई हब के प्रो. संदीप शुक्ला, रोहित नेगी आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।