ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कानपुरसिडबी के फंड से और बेहतर होगा आईआईट़ी का वेंटीलेटर

सिडबी के फंड से और बेहतर होगा आईआईट़ी का वेंटीलेटर

सिडबी (भारतीय लघु उद्योग एवं विकास बैंक) के फंड से अब आईआईटी का वेंटीलेटर और बेहतर होगा। यह वेंटीलेटर आईआईटी के स्टार्टअप नॉक्कार्क ने कोविड संक्रमण...

सिडबी के फंड से और बेहतर होगा आईआईट़ी का वेंटीलेटर
default image
हिन्दुस्तान टीम,कानपुरMon, 11 Sep 2023 08:51 PM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर। प्रमुख संवाददाता

सिडबी (भारतीय लघु उद्योग एवं विकास बैंक) के फंड से अब आईआईटी का वेंटीलेटर और बेहतर होगा। यह वेंटीलेटर आईआईटी के स्टार्टअप नॉक्कार्क ने कोविड संक्रमण के दौरान सिर्फ 90 दिन में विकसित किया था। जिसके बाद इस वेंटीलेटर ने अनेक अस्पतालों में जिंदगी व मौत से जूझ रहे सैकड़ों लोगों को नया जीवन प्रदान किया था। सिडबी से मिले फंड से रिसर्च कर वेंटीलेटर को और बेहतर बनाया जाएगा।

आईआईटी में सिडबी ने मार्च 2023 में सीड इक्विटी सपोर्ट स्कीम के तहत एक प्रतियोगिता कराई थी। सोमवार को जारी हुए परिणाम में स्टार्टअप नॉक्कार्क विजेता बना है। संस्थान के स्टार्टअप इंक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर के तत्कालीन प्रभारी प्रो. अमिताभ बंदोपाध्याय ने बताया कि कम लागत वाला यह वेंटीलेटर सिर्फ 90 दिन में विकसित किया गया। संस्थान के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने कहा कि कोविड संक्रमण के दौरान जहां पूरी दुनिया वेंटीलेटर की कमी से जूझ रही थी, वहीं, इस स्टार्टअप ने बड़ा सहयोग किया था। स्टार्टअप के सह संस्थापक निखिल कुरेले ने बताया कि सिडबी से मिलने वाली वित्तीय सहायता से रिसर्च को बढ़ावा दिया जाएगा और तैयार उत्पाद वेंटीलेटर के कॉमर्शियल उपयोग को बढ़ाया जाएगा। सिडबी के मुख्य महाप्रबंधक एसपी सिंह ने कहा कि उभरते हुए स्टार्टअप को लगातार बढ़ावा दिया जा रहा है। सेंटर के प्रभारी प्रो. अंकुश शर्मा ने कहा कि मेडटेक क्षेत्र में नॉ़क्कार्क प्रमुख स्टार्टअप है, जिसके उत्पाद वेंटीलेटर का उपयोग देश के कई प्रतिष्ठित अस्पतालों में किया जा रहा है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।