DA Image
1 अप्रैल, 2020|7:08|IST

अगली स्टोरी

अच्छी खबर : केंद्र के फैसले से शहर के मजदूर और महिलाओं को राहत

default image

कोरोना वायरस के चलते चल रहे लॉकडाउन के बाद सरकार के नए फैसले के बाद कानपुर में रहने वाले मजदूर और महिलाओं को खासी राहत मिलेगी। उधर, किसानों को मिलने वाली पीएम किसान निधि की पहली किस्त भी अप्रैल के पहले हफ्ते में किसानो के खाते में जारी कर दी जाएगी।

गांव में चल रहे स्वयं सहायता समूहों के लोन को भी सरकार ने बढ़ाकर 20 लाख रुपए कर दिया है। अभी तक स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को पांच किस्त में पांच लाख रुपए का लोन मिलता था। 10 ब्लॉकों में करीब 1192 समूह चल रहे हैं। 183 समूहों की लोन की फाइलें फंसी हैं। इसमें से सिर्फ 25 ही स्वीकृत हो सके हैं। डीडीओ जीपी गौतम ने बताया कि ठप हो गए समूह को फायदा मिलेगा।

30 हजार मनरेगा मजदूरों को राहत

मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों को सबसे ज्यादा आफत है। सरकार ने उनकी प्रतिदिन की दिहाड़ी बढ़ाकर राहत दी है। अभी तक मजदूरों को प्रतिदिन 182 रुपए मिलता था। अब उनको 202 रुपए मिलेगा। जल्द ही उनकी दिहाड़ी का पैसा भी उनके खाते में आ जाएगा। ब्लॉकों में करीब 30 हजार मजदूर वर्तमान वित्तीय वर्ष में काम कर रहे हैं। लगातार औसतन इतने ही मजदूर रहते हैं।

दो लाख किसानों को सम्मान निधि

किसानों को राहत देने के लिए अप्रैल के पहले हफ्ते में ही पीएम किसान सम्मान निधि का दो हजार रुपए किसानों के खातों में डाल दिया जाएगा। जिले के करीब 2.04 लाख किसानों को निधि का लाभ मिलता है। अभी करीब 70 हजार किसान आधार कार्ड में गड़बड़ी की वजह से निधि का लाभ नहीं ले सके हैं। सहायक निदेशक कृषि धीरेंद्र सिंह ने बताया कि पहले हफ्ते में किस्त आने से किसानों की दिक्कतें दूर हो जाएंगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Good news Relief for workers and women of the city from Center 39 s decision