DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › कानपुर › इंजेक्शन में पानी, टेबलेट में सादा पाउडर बेचने में चार पर मुकदमा
कानपुर

इंजेक्शन में पानी, टेबलेट में सादा पाउडर बेचने में चार पर मुकदमा

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Fri, 08 Oct 2021 09:00 AM
इंजेक्शन में पानी, टेबलेट में सादा पाउडर बेचने में चार पर मुकदमा

इंजेक्शन में पानी और जीवनरक्षक दवाओं के टेबलेट में सादा पाउडर मिली दवाओं की बिक्री करने वाले चार मेडिकल स्टोर संचालकों और निर्माता कंपनियों पर ड्रग अथॉरिटी ने मुकदमा दर्ज कराया है। चारों पर पूर्व में विभिन्न थानों में गम्भीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज है।

चारों आरोपियों में संतोष कुमार निवासी सुतरखाना हरबंश मोहाल के स्टोर से नारफीन इंजेक्शन का नमूना लिया गया था जो मानकों पर नहीं मिला। उसमें दवा के साथ पाउडर भी मिला पाया गया। इन पर एफआईआर दर्ज है। इसी तरह मुकेश त्रिपाठी निवासी जूही लाल कालोनी के स्टोर से लिवोस्ट्राजिन टेबलेट, अल्फ्रासेफ टेबलेट, डाक्सीसाक्लीन कैम्प्सूल, डाइक्लोजेम टेबलेट का नमूना लिया गया था। इन पर एफआईआर दर्ज नहीं थी। जांच में 75 फीसदी दवा अधोमानक मिली है। वहीं जितेन्द्र कुमार के यहां से ऑक्सीटोसिन इंजेक्शन बरामद किया गया था। इन पर भी एफआईआर दर्ज नहीं थी। इंजेक्शन में मैनुफैक्चरिंग तिथि और एक्सपाइरी डेट नहीं अंकित थी। शिव शरण उर्फ दीपू सिंह यह मामला शालू अस्पताल चकेरी मोड़ चकेरी का है। इनके स्टोर से फोरेक्सीम और क्रिपोडॉक्स, एसिफिनेक टेबलेट का नमूना लिया गया था। ड्रग इंसपेक्टर संदेश कुमार मौर्या के मुताबिक लखनऊ की लैब की जांच के दौरान सभी दवाएं अधोमानक मिली हैं। इनमें अधिकतर दवाएं दर्द नवारक, एंटी डिप्रेशन ड्रग और एंटीबायोटिक हैं। इन पर सीमएएस कोर्ट में मुकदमा पंजीकृत करा दिया गया है। इन सभी का लाइसेंस निरस्त किया जा रहा है।

संबंधित खबरें