DA Image
28 नवंबर, 2020|10:08|IST

अगली स्टोरी

अनाज बैंक के तीन साल पूरे होने पर महिलाओं को किया खाद्यान्न व भोजन वितरण

अनाज बैंक के तीन साल पूरे होने पर महिलाओं को किया खाद्यान्न व भोजन वितरण

विश्व के पहले अनाज बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा अपने स्थापना दिवस पर आयोजित अनाज वितरण कार्यक्रम में गरीब परिवारों की महिलाओं को खाद्यान्न व भोजन का वितरण रविवार को किया गया।

स्थापना दिवस पर महिलाओं को अनाज, वस्त्र आदि वितरण करते हुए अनाज बैंक की निदेशक डॉ. अमिता सिंह ने कहा कि गरीब, मजबूर महिलाओं को एक माह में दो बार अनाज वितरण का कार्य सभी तरह के सामाजिक कार्यों से बेहतर है। ऐसा करके जहां एक तरफ समाजसेवा का कार्य किया जा रहा है वहींं दूसरी तरफ इन महिलाओं के लिए भोजन की व्यवस्था की जा रही है। अनिला राणावत की स्मृति में संचालित अनाज बैंक ने अपने सफलता के तीन वर्ष पूरे कर लिए। कहा कि बुन्देलखण्ड में समय के साथ भूख एक समस्या बनती जा रही है। इसके साथ-साथ समाज में वृद्धजनों के प्रति संवेदनहीनता ने भी स्थिति ख़राब की है। ऐसे में वृद्ध महिलाओं के जीवनयापन का संकट पैदा हो जाता है। अनाज बैंक के इस कदम से उन महिलाओं को नया जीवन मिला है। अनाज बैंक के महाप्रबंधक डॉ. कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने कहा कि अनाज वितरण के साथ-साथ बैंक द्वारा सदैव प्रयास किये गए कि महिलाओं को अन्य मदद भी मिलती रहे। इसके लिए समय-समय पर उनको शिक्षा चिकित्सा, वस्त्र आदि की सहायता की गई। इसके लिए अनाज बैंक से जुड़े सभी लोग बधाई के पात्र हैं। गोविन्द स्वीट हाउस के आरजे गुप्ता ने कहा कि अनाज बैंक से जुड़ना अपने आपमें सौभाग्य का विषय है। उन्हें यह अवसर आज स्थापना दिवस के मौके पर मिला यह बहुत ही ख़ुशी प्रदान कर रहा है। गोविन्द स्वीट हाउस के सहयोग से भोजन पैकेट प्रदान किये गए। इस मौके पर पौरवी राणावत, पौरिक राणावत, शिक्षक प्रदीप निरंजन, शिवेश सिंह सेंगर, सुभाष चंद्रा, शिवम् गुप्ता, धर्मेन्द्र कुमार, रागिनी आदि रहीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Food grains and food distribution to women on completion of three years of grain bank