ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कानपुरफर्जी शिक्षक भर्ती घोटाला : दो बार फाइल लौटा दी, रिटायरमेंट से दो दिन पहले किए हस्ताक्षर

फर्जी शिक्षक भर्ती घोटाला : दो बार फाइल लौटा दी, रिटायरमेंट से दो दिन पहले किए हस्ताक्षर

कानपुर, वरिष्ठ संवाददाता। फर्जी शिक्षक भर्ती घोटाले में रिटायर अफसरों के बयान दर्ज किए...

फर्जी शिक्षक भर्ती घोटाला : दो बार फाइल लौटा दी, रिटायरमेंट से दो दिन पहले किए हस्ताक्षर
default image
हिन्दुस्तान टीम,कानपुरThu, 13 Jun 2024 02:20 AM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर, वरिष्ठ संवाददाता।

फर्जी शिक्षक भर्ती घोटाले में रिटायर अफसरों के बयान दर्ज किए जाने शुरू हो गए हैं। फरवरी में जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय के पद से रिटायर मुन्नीलाल ने कर्नलगंज पुलिस को बताया कि ई-मेल से आने वाली डाक उनके पास डीआईओएस प्रथम के माध्यम से ही आती थी। नियुक्ति मामले में जो फाइल आई थी उसे दो बार लौटा दिया था। रिटायरमेंट से दो दिन पहले फिर फाइल भेजी गई तो हस्ताक्षर कर दिए।

शिक्षा निदेशालय की ई-मेल से मिलती जुलती मेल के माध्यम से डीआईओएस कानपुर को अक्तूबर 2023 में शिक्षा सेवा चयन बोर्ड से चयनित एक फर्जी सूची भेजी गई थी। इसमें नौ नाम थे। चार नाम बालिका विद्यालय से जुड़े थे और पांच बालक विद्यालयों से। चार की फाइल डीआईओएस द्वितीय को भेज दी गई, जबकि पांच का निपटारा तत्कालीन डीआईओएस प्रथम के स्तर से किया जाने लगा। डीआईओएस द्वितीय ने दो और शेष को डीआईओएस ने नियुक्ति पत्र जारी किए। सिर्फ दो ही कार्यभार ग्रहण कर सके। इसमें से एक को वेतन भी मिल गया। बाद में जिसे वेतन मिल गया था उससे रिकवरी कर कोषागार में जमा करा दिया गया। फर्जी मेल का खुलासा होते ही डीआईओएस प्रथम के स्तर से नियुक्ति पत्र निरस्त कर दिए गए।

फाइल में होनी चाहिए थी नोटिंग

थाना कर्नलगंज में एसआईटी के सामने तत्कालीन जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय ने कई जानकारियां दीं। उनका कहना था कि जो फाइल हमारे सामने लाई गई उसे हमने लौटा दिया था। इसका कारण भी बता दिया था। हमारे पास जो फाइल भेजी गई थी उसमें नोटिंग होनी चाहिए थी। किसी स्तर से खेल कर हस्ताक्षर करा लिए गए। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय को शुक्रवार को फिर बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया है। पुलिस वीडियो बयान भी दर्ज करती है। तत्कालीन जिला विद्यालय निरीक्षक द्वितीय ने बताया कि उन्होंने अपना पक्ष रख दिया है। मेरे पास ई-मेल नहीं आती थी।

इंसेट:::

आज-कल में अफसरों के होंगे स्थानांतरण

कानपुर। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में बुधवार को भी हड़कंप मचा रहा। पुलिस तो नहीं आई पर लोग सहमे रहे। इस बीच निदेशालय ने बड़े स्तर पर तैयारियां कर ली हैं। सभी को कारण बताओ नोटिस जारी होंगे। गुरुवार से शुक्रवार तक कुछ अफसरों के स्थानांतरण भी हो सकते हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक के स्थानांतरण के संकेत दे दिए गए हैं।

रिटायर बाबू चर्चा से गायब, दो स्टे लेने गए

कानपुर। फर्जी चयन सूची में शामिल डायट के एक रिटायर बाबू की भूमिका को लेकर चर्चा तो रही पर अब ठंडे बस्ते में है। आर्य कन्या में जिस फर्जी शिक्षिका का चयन हुआ था वह उसे वहां ज्वॉइन भी कराने गया था। एक अधिकारी का वह करीबी भी माना जा रहा था। पुलिस ने भी एक दिन उसका नाम लिया था पर अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस बीच दो कर्मचारी अरेस्ट स्टे लेने चले गए हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।