Death of a dozen cows in Panki Temporary Gaushala - पनकी अस्थाई गौशाला में एक दर्जन गौवंश की मौत, 7 बीमार DA Image
15 दिसंबर, 2019|8:25|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पनकी अस्थाई गौशाला में एक दर्जन गौवंश की मौत, 7 बीमार

पनकी में बनी नगर निगम की गौशाला में मंगलवार को दर्जन भर गौवंश की मौत से हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे पशु चिकित्साधिकारी ने दो मृत गौवंश को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया। गौशाला में सात अन्य गौवंश बीमार पड़े है। नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी का कहना है कि दो मवेशियों की मौत हुई है और सात बीमार हैं।


नगर निगम ने पनकी ग्रीन बेल्ट में अस्थाई गौशाला बना रखी है। इस समय यहां 3700 गौवंश रह रहे है। इनके रहने खाने से लेकर इलाज तक की पूरी व्यवस्था नगर निगम के जिम्मे है। मंगलवार को गौशाला में नौ गाय और तीन नंदी की मौत की सूचना से हड़कंप मच गया। जानकारी पर नगर निगम के पशु चिकित्साधिकारी डॉ एके सिंह पहुंचे। उन्होंने मौके पर मृत पड़े मिले दो गौवंश को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। डॉक्टर ने ने बताया कि दर्जन भर गौवंश नहीं मरे बल्कि दो जानवरों की बीमारी से मौत हुई है। सात गौवंश बीमार है। उनका पशु चिकित्सकों की देखरेख में इलाज चल रहा है। 


3700 जानवर और 900 के लिए ही नांद
अस्थाई गौशाला में वर्तमान में 3700 गौवंश रह रहा है। यहां बनी नांदो में 900 जानवर ही खाना खा सकते हैं। साथ ही बाहर से आने वाले ज्यादातर गौवंश ज्यादा आयु के और बीमार होते हैं। गौशाला में आने पर उनका इलाज तो शुरू हो जाता है लेकिन तब तक बहुत देर हो जाती है। साथ ही ठंड बढ़ने के चलते भी गौवंश बीमारी की चपेट में आ जाते है। पशु डॉक्टर का कहना है कि गौशाला में जानवरों के लिए पर्याप्त इंतजाम है। सभी को खाने के लिए समुचित चारा समेत इलाज के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद दोनों के मौत का कारण स्पष्ट होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Death of a dozen cows in Panki Temporary Gaushala