ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश कानपुरकानपुर के पानी के नमूनों में निकला घातक यूरेनियम

कानपुर के पानी के नमूनों में निकला घातक यूरेनियम

कानपुर। कानपुर के पानी में घातक यूरेनियम पाया गया है, इसके बावजूद एक चौथाई...

कानपुर के पानी के नमूनों में निकला घातक यूरेनियम
हिन्दुस्तान टीम,कानपुरTue, 30 Aug 2022 01:05 PM
ऐप पर पढ़ें

कानपुर। कानपुर के पानी में घातक यूरेनियम पाया गया है, इसके बावजूद एक चौथाई आबादी इसे पीने को मजबूर है। आईआईटी के वैज्ञानिक प्रो. इंद्रशेखर सेन व उनकी टीम की रिसर्च में इसका खुलासा हुआ है। टीम ने कानपुर नगर और कानपुर देहात में लगे 192 सरकारी हैंडपंपों से पानी के नमूने लिए थे। नमूनों की हर पैरामीटर पर जांच की गई। 30 फीसदी में यूरेनियम मानक से कई गुना ज्यादा मिला। अधिकतर में क्रोमियम, कैडमियम, निकिल, लेड समेत कई हैवी मेटल्स भी मानक से अधिक मिले हैं। रिपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय जर्नल्स एप्लाइड जीओ केमिस्ट्री में भी प्रकाशित किया गया है। टीम ने सरकारी हैंडपंप, तालाब, पोखर व कुआं से जल का नमूना लेकर जांच की। 10 फीसदी से अधिक इलाकों में यूरेनियम का स्तर पांच से दस गुना अधिक मिला है। यह नमूने अधिकतम गहराई तक से लिए गए हैं। सबसे अधिक खराब स्थिति चकेरी इलाके की है जिसमें जाजमऊ, सनिगवां, हरजेंदर नगर, विमान नगर, सैनिक नगर, भाभा नगर, शिवकटरा, कृष्णा नगर, केडीए कॉलोनी, कोयला नगर, वाजिदपुर आदि शामिल हैं।

ऐसे पानी से किसी की भी किडनी, लिवर फंक्शन ब्लॉक हो सकता है। बोनमैरो के साइकिल को खराब कर यह कैंसर का कारक हो सकता है। खून की कोशिकाएं बनना बंद हो जाती हैं। साथ ही हड्डी के लिए यह बेहद नुकसानदेह है।

- डॉ. विकास मिश्र, प्रोफेसर, माइक्रोबायोलाजी विभाग जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज

इन क्षेत्रों में मिला अधिक यूरेनियम

चकेरी 253.29 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

गांधीग्राम 92.88 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

दहेली सुजानपुर 43.06 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

पुरवामीर 39.95 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

चौबेपुर 63.93 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

भौंती 43.35 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

सिहारी घाटमपुर 114.14 माइक्रोग्राम प्रति लीटर

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।