DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फतेहपुर में दिनदहाड़े चीफ फार्मासिस्ट की गोली मारकर हत्या

दिलीप सिंह पटेल को अस्पताल ले जाते।

फतेहपुर में पुलिस लाइन स्थित सरकारी अस्पताल के चीफ फार्मासिस्ट एवं पोस्टमार्टम हाउस प्रभारी दिलीप पटेल को शुक्रवार दोपहर बाद एक व्यक्ति ने गोली मारकर हत्या कर दी। घटना उस समय जब वह बाइक से रोज की तरह नऊवाबाग से होकर पोस्टमार्टम हाउस जा रहे थे। तभी बालाजी धर्मकांटा के पास गली में उन पर हमला हुआ। घटना के बाद उन्हें जिला अस्पताल लाया गया। तुरंत उन्हें कानपुर रेफर किया गया था। उनके बयान पर पुलिस ने पोस्टमार्टम हाउस में काम करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मी को हिरासत में लिया है। 
शहर के हबीबपुर (नई तहसील के पीछे) रहने वाले दिलीप पटेल (राजा साहब) पुलिस लाइन अस्पताल में चीफ फार्मासिस्ट के पद पर तैनात थे। वह पोस्टमार्टम हाउस प्रभारी भी थे। वह शुक्रवार को दोपहर बाद करीब दो बजे बाइक से रोज की तरह पोस्टमार्टम हाउस जा रहे थे। नऊवाबाग के पहले एक शार्टकट गली हैं जो बालाजी धर्मकांटा के पास से होकर हाईवे पर निकलती है। दिलीप पटेल इसी गली से होकर निकल रहे थे। उन्होंने पुलिस को बताया कि गली के अंदर पहुंचते ही हाईवे के नजदीक पीछे से आए बाइक सवार ने उन पर गोली चला दी। गोली के छर्रे दिलीप पटेल के पीठ के नीचे जाकर धंस गए। इससे वह गिर पड़े। यह देख हमलावर वहां से भाग निकले। जानलेवा हमले की सूचना पर पुलिस दौड़ पड़ी। आनन-फानन में एंबुलेंस से उन्हें जिला अस्पताल लाया गया और फिर कानपुर रेफर कर दिया गया। इससे पहले की वह हैलट पहुंचते रास्ते में ही उनकी सांसे थम गई। यह देख परिजन बिलख पड़े। इधर, घटना के बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक, सीओ सिटी व शहर कोतवाल ने राजा साहब से हमलावरों के बारे में बातचीत की। खबर है कि दिलीप पटेल ने पोस्टमार्टम हाउस में चतुर्थ श्रेणी कर्मी से रंजिश होने की बात कही और बताया कि जब गोली लगने के बाद वह बाइक सवार को देखने के लिए घूमे तो उन्हें ऐसा लगा कि शायद चतुर्थ श्रेणी कर्मी है। पुलिस ने तुरंत इस कर्मचारी के घर छापेमारी की तो वह घर में ही मिल गया। पुलिस शंका के आधार पर उसे पकड़कर कोतवाली ले गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chief pharmacist shot dead in Fatehpur