DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › कानपुर › कॉल सेंटर ठगी: ग्रेटर नोएडा के साइबर सिटी में मिली तीन की लोकेशन
कानपुर

कॉल सेंटर ठगी: ग्रेटर नोएडा के साइबर सिटी में मिली तीन की लोकेशन

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Fri, 23 Jul 2021 07:30 PM
कॉल सेंटर ठगी: ग्रेटर नोएडा के साइबर सिटी में मिली तीन की लोकेशन

अमेरिकी कॉल सेंटर ठगी के मामले में तीन आरोपितों की लोकेशन ग्रेटर नोएडा की साइबर सिटी में मिली है। क्राइम ब्रांच इन तीनों की तलाश कर रही है। इन्हें पकड़ने के लिए वहां की पुलिस से भी मदद मांगी गई है। कॉल सेंटर मामले में क्राइम ब्रांच और सबूत इकट्ठा कर रही है।

दिल्ली निवासी जसराज की गिरफ्तारी के बाद तीन और लोगों के नाम सामने आए थे। ये तीनों जसराज के साथी हैं और फर्जी वेबसाइट और पॉप अप मैसेज बनाने में इन्हें महारत हासिल थी। इन्हीं में से एक गूगल एड से कोऑर्डिनेट का काम करता था। जसराज के बाद से क्राइम ब्रांच लगातार इनकी तलाश कर रही थी। सूत्रों के मुताबिक, तीनों की लोकेशन ग्रेटर नोएडा की साइबर सिटी में मिली है।

छोटी फर्म चला रहे वहां पर

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, तीनों आरोपित वहां पर छोटी फर्म चला रहे थे। इसमें वह लोगों के कम्प्यूटर में होने वाली सॉफ्टवेयर की दिक्कतों को ठीक करने का काम कर रहा था। दूसरा आरोपित छोटे-मोटे एडवरटाइजमेंट का काम कर रहा था। क्राइम ब्रांच इन फर्मों के बारे में पूरी जानकारी जुटा रही है। यह देखा जा रहा है कि विदेशियों से साइबर फ्रॉड को अंजाम देने के बाद जो पैसे इन्हें मिले वह इन्होंने इस फर्म में उपयोग किए हैं या नहीं।

क्रिप्टो माइनिंग में भी लगा रखा था पैसा

क्रिप्टो करंसी के अलावा जसराज ने एक मोटी रकम क्रिप्टो माइनिंग में भी लगा रखी थी। माइनिंग की डीटेल्स भी उसे अमेरिकी एजेंट टेड से मिलती थी। माइनिंग के लिए जसराज ने एक और व्यक्ति के साथ साझेदारी की थी, जो कि खुद माइनिंग के काम में शामिल है। जसराज उसी के नाम पर क्रिप्टो माइनिंग में काम कर रहा था। कमाई में उससे कमीशन लेता था।

संबंधित खबरें