DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर  ›  बिकरू कांड : पुलिस की देखरेख में विकास दुबे की पत्नी ने जमीन पर लिया कब्जा
कानपुर

बिकरू कांड : पुलिस की देखरेख में विकास दुबे की पत्नी ने जमीन पर लिया कब्जा

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरPublished By: Newswrap
Fri, 11 Jun 2021 09:21 PM
बिकरू कांड : पुलिस की देखरेख में विकास दुबे की पत्नी ने जमीन पर लिया कब्जा

एनकाउंटर में मारे गए बिकरू कांड के मुख्य आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने शुक्रवार को पुलिस की देखरेख में अपनी जमीन पर कब्जा कर जुताई कराई। उन्होंने दबंगों पर जमीन कब्जा करने का आरोप लगाते हुए शिकायत की थी। वह अपने वकील के साथ पहुंची थी।

ऋचा के वकील अनुराग शुक्ला ने बताया कि सकरवां गांव के शशिकांत द्विवेदी से करीब साढ़े तेरह बीघा कृषि भूमि 2016 में विकास ने खरीदकर बैनामा कराया था। तबसे खतौनी में विकास का नाम चला आ रहा है और बराबर जमीन पर काबिज हैं। विकास की मौत के बाद से जमीन खाली पड़ी थी। उनके बटाईदार जोतने जाते तो गांव के कुछ लोग मना कर देते थे। सात जून को बटाईदार आनंद अवस्थी, विपिन कुमार जब ट्रैक्टर लेकर जमीन जोतने सकरवां गए तो गांव के श्रीकांत दीक्षित व प्रधान सुशील दुबे और उनके साथियों ने जमीन नहीं जोतने दी। जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया। शिकायत आईजी के पास जाकर की थी। शुक्रवार सुबह ऋचा वकील के साथ ककवन थाने पहुंची। जहां से एसओ संतोष ओझा, नदिहा चौकी प्रभारी व पुलिस बल के साथ सकरवां पहुंचे। पुलिस ने अपने सामने जमीन पर कब्जा दिलवाया।

हीरा बाजपेई ने किया विरोध

गांव के हीरा बाजपेई ने अपनी तीन बीघा जमीन बताकर जमीन जोतने का विरोध किया लेकिन उनका नाम खतौनी में दर्ज न होने पर पुलिस ने हस्तक्षेप करने से रोक दिया।

बिकरू जाकर सास-ससुर से लिया आशीर्वाद

जमीन पर कब्जा लेने के बाद ऋचा शिवली स्थित विद्युत विभाग के जेई से मिलने पहुंची। उन्होंने बताया कि विकास के मरने के बाद खेतों पर लगे ट्यूबबेल के कनेक्शन काट दिए गए थे लेकिन उनकी मुलाकात जेई से नहीं हो पाई। वह बिकरू गांव पहुंची और सास-ससुर से आशीर्वाद लेने के बाद कानपुर चली गई।

-----------------

::::कोट

सकरवां स्थित साढ़े तेरह बीघे जमीन की खतौनी पर विकास दुबे का नाम दर्ज है। वारिस उसकी पत्नी व दो बेटे हैं। खतौनी पर दर्ज नाम के रकबे के हिस्से पर ऋचा को कब्जा दिलवाया गया है

- संतोष ओझा, एसओ ककवन

-----------------------------------------

नाबालिग को न्याय दिलाने के लिए ब्राह्मण संगठन राजभवन जाएगा

बिकरू कांड में आरोपित बनाई गई विकास के भतीजे अमर की नाबालिग पत्नी को न्याय दिलाने के लिए मैं ब्राह्मण हूं महासभा ने प्रेसवार्ता की। राष्ट्रीय अध्यक्ष दुर्गेशमणि त्रिपाठी ने कहा कि निर्दोष महिलाओं और एक मासूम को रिहा करने का आदेश सरकार को देना चाहिए। इस दौरान उन्होंने मुकदमे की पहली एफआईआर की कॉपी पेश करते हुए कहा कि इन चारों महिलाओं का नाम केस में नहीं था। उन्होंने कहा कि 22 जून को दर्जनों ब्राह्मण संगठनों के समर्थन से कानपुर से शुक्लागंज मार्ग से होते हुए लखनऊ राजभवन तक पैदल यात्रा कर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को ज्ञापन सौपेंगे।

संबंधित खबरें