DA Image
Thursday, December 2, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश कानपुरवीरता पदक से सम्मानित, जीवित प्रमाण पत्र को भटक रहे

वीरता पदक से सम्मानित, जीवित प्रमाण पत्र को भटक रहे

हिन्दुस्तान टीम,कानपुरNewswrap
Sat, 16 Oct 2021 07:15 PM
वीरता पदक से सम्मानित, जीवित प्रमाण पत्र को भटक रहे

राष्ट्रपति द्वारा पुलिस वीरता पदक से सम्मानित होने के बाद भत्ते के लिए आवेदन करने पर सीआरपीएफ के पूर्व सहायक कमांडेंट से जीवित प्रमाण पत्र मांगा गया। वह तहसील में जीवित प्रमाण पत्र बनवाने के लिए चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने शनिवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस पर नर्वल तहसील में जाकर अधिकारियों से शिकायत की।

नवोदय नगर निवासी नीरज कुमार उत्तन सम्पूर्ण समाधान दिवस पर नर्वल तहसील पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों से बताया कि सीआरपीएफ से सहायक कमांडेंट के पद से रिटायर हैं। उन्हें कुछ साल पहले राष्ट्रपति ने पुलिस वीरता पदक से सम्मानित किया था। उनका प्रतिमाह दो हजार रुपया पुलिस पदक भत्ता स्वीकृत किया गया था। वर्ष 2018 में फोर्स छोड़ देने के बाद उन्होंने 93वें वाहिनी सीआरपीएफ कमांडेंट कार्यलय में भत्ते के लिए आवेदन किया। लेकिन उनका आवेदन जीवित प्रमाण पत्र संलग्न न होने पर वापस कर दिया गया। इसके बाद वे नर्वल तहसील में जीवित प्रमाण पत्र बनवाने के लिए चक्कर काट रहे हैं। एसडीएम ने तहसीलदार से रिपोर्ट मांगी है। इसके अलावा समाधान दिवस में खरौंटी गांव की प्रधान सुधा तिवारी ने गांव के प्राथमिक विद्यालय की जमीन पर कब्जा करने की शिकायत की। बड़ागांव के घनश्याम ने भी जमीन पर कब्जे की शिकायत की। समाधान दिवस में कुल 47 शिकायतें आईं। जिनमें दो दर्जन शिकायतें अवैध कब्जों की रही। इस मौके पर एडीएम एलए सत्येंद्र कुमार सिंह, एसडीएम नर्वल अमित ओमर, तहसीलदार संजय सिंह समेत आदि मौजूद थे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें