DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Video:कानपुरः पोस्टर फाड़ने पर दो पक्षों का टकराव ने लिया हिंसक रूप

कानपुर के रामलला मंदिर में घुसी पुलिस, पदाधिकारियों पर लाठीचार्ज

रावतपुर में पोस्टर फाड़ने को लेकर शुरू हुए दो पक्षों के टकराव ने हिंसक रूप ले लिया। सैकड़ों की भीड़ सड़कों पर उतर अाई। उपद्रवियों ने घूम-घूम कर एक दूसरे पर पथराव किया। माहौल बिगड़ने की आशंका पर पीएसी, आरएएफ और कई थानों की फोर्स के साथ डीएम, डीआईजी, एसपी वेस्ट ने फ्लैग मार्च किया। इसी दौरान अराजकतत्वों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। फिर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। एक धार्मिक स्थल में भी घुसकर लाठियां भांजी गईं। यहां अंदर से खींच-खींचकर कई लोगों को जीप में बैठाकर थाने लाया गया। भगदड़ में कई लोग जख्मी हो गए जबकि एक दर्जन से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है। विधायक के पहुंचने पर भीड़ ने पकड़े गए लोगों को छोड़ने की मांग का विरोध किया। अफसरों ने पूछताछ के बाद छोड़ने का आश्वासन देकर मामला शांत कराया। इसके बाद फिर देर शाम फिर बवालियों ने जुलूस पर पथराव कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। तनाव को देखते हुए पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। अारएएफ अौर पीएसी भी तैनात कर दी गई है। 
रावतपुर गांव चौकी से चंद कदम की दूरी पर स्थित धार्मिक स्थल पर रविवार सुबह लगभग 10 बजे पर धार्मिक कार्यक्रम संबंधी पोस्टर को अराजकत्वों ने फाड़ दिया। इससे एक पक्ष विशेष के लोग भड़क गए। देखते ही दोनों ओर से भीड़ एकतित्र होने लगी। एक स्थानीय शख्स ने विरोध किया तो एक पक्ष के लोगों ने उसके घर पर पत्थर चला दिए। इस पर दोनों पक्ष के लोग आमने-सामने आ गए। जमकर पथराव होने लगा, जिसमें कई लोग घायल हो गए। थाना पुलिस पहुंचने पर भी बवाल शांत होने का नाम नहीं ले रहा था। एसपी वेस्ट, एसीएम भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए।। पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़कर आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया। संवेदनशीलता को देखते हुए डीएम, डीआईजी, सीडीओ भी मौके पर पहुंच गए और फोर्स के साथ रूट मार्च कर माहौल शांत कराने का प्रयास किया।
पुलिस पर पथराव के बाद स्थिति हुई बेकाबू 
रूट मार्च के दौरान पोस्टर फाड़ने वाले अराजकतत्वों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे एक पक्ष के लोग अचानक बेकाबू हो उठे। एक धार्मिक स्थल में इकट्ठा विभिन्न संगठनों के आक्रोशित कार्यकर्ता एकाएक धार्मिक स्थल गेट के बाहर आकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। एसपी वेस्ट, कल्याणपुर सीओ और सीडीओ भीड़ को समझाने पहुंचे। अधिकारी आयोजन समिति के पदाधिकारियों से बात कर रहे थे तभी अराजकतत्वों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। एक बार फिर माहौल बिगड़ता देख फोर्स लाठीचार्ज करती हुई धार्मिक स्थल में घुस गई। बवाल कर रहे लोग आयोजन समिति के कक्ष में घुस गए। पुलिस ने वार्ता कर रहे समिति के पदाधिकारियों पर जमकर लाठियां चलाईं। इसमें कई लोग घायल हो गए। पुलिस ने दो दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया। विधायक अभिजीत सिंह सांगा भी मौके पर पहुंचे तो लोग फिर इकट्ठा होकर बेकसूरों को हिरासत में लेने का आरोप लगाने लगे। पुलिस अधिकारियों ने पकड़े गए लोगों को छोड़ने के आश्वासन देकर माहौल को शांत करने का प्रयास किया। लाठीचार्ज की जानकारी मिलते ही कई नेता पहुंच गए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After the controversy over the disfiguring religious posters, the party stood up again at about 12 in the afternoon.