95 thousand robbers by framing bank s franchisees - एसबीआई मिनी बैंक की फ्रेंचाइजी का झांसा देकर 96 हजार हड़पे DA Image
14 नबम्बर, 2019|4:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसबीआई मिनी बैंक की फ्रेंचाइजी का झांसा देकर 96 हजार हड़पे

साइबर ठगों ने एसबीआई मिनी बैंक की फ्रेंचाइजी का झांसा देकर इंटरनेट कैफे संचालक से 95,600 रुपए ठग लिए। मामले की जानकारी होने पर कैफे संचालक ने बजरिया थाने और साइबर सेल में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई है।बर्रा आठ में रहने वाले आदित्य कुमार का पीरोड हरसहाय डिग्री कॉलेज मार्केट में इंटरनेट कैफे है। आदित्य ने बताया कि इंटरनेट पर उन्होंने संजीवनी बीसी ओआरजी की बेवसाइट पर बैंक की मिनी फ्रेंचाइजी खोलने का विज्ञापन देखा था। इसके बाद उन्होंने वेबसाइट पर दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क किया तो अजय भगत नाम के व्यक्ति ने कहा कि एसबीआई की मिनी बैंक की फ्रेंचाइजी के लिए 15,600 रुपए जमा करके रजिस्ट्रेशन कराना होगा। दूसरी बार में साइबर ठग ने बैंक के लिए ओवर ड्राफ्ट अकाउंट खुलवाने के लिए 50 हजार रुपए जमा करा लिया और फिर लैपटॉप, प्रिंटर समेत अन्य स्ट्रूमेंट के नाम पर तीसरी बार में 30 हजार रुपए जमा कराए। आदित्य ने बताया कि 11 अगस्त 2017 में 95,600 रुपए जमा कराने के बाद ठग ने अपना मोबाइल नंबर बंद कर लिया। इसके बाद से वह चौकी, थाने और पुलिस अफसरों के दफ्तर के चक्कर काटते रहे लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आईजी आरएस की शिकायत के बाद अब जाकर उनकी बजरिया थाने में रिपोर्ट दर्ज हुई है। बजरिया थाना प्रभारी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की रिपोर्ट दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है।

फर्जी वेबसाइटों से सतर्क रहें

साइबर सेल ने अलर्ट जारी करते हुए कहा कि फर्जी वेबसाइटों से लोग सतर्क रहें। अगर आपको किसी कंपनी की जानकारी लेनी है तो सीधे उसके दफ्तर या शाखा में संपर्क करें। कोई भी कंपनी सिर्फ फोन पर बात करके फ्रेंचाइजी या अन्य सुविधा नहीं देती है। इससे पहले भी अन्य नामी कंपनियों के नाम पर साइबर ठगों ने लाखों रुपए की ठगी की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:95 thousand robbers by framing bank s franchisees