DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कानपुर  ›  हादसा: कानपुर में कारोबारी के परिवार के 4 लोग जिंदा जले

कानपुरहादसा: कानपुर में कारोबारी के परिवार के 4 लोग जिंदा जले

हिन्दुस्तान संवाददाता,कानपुरPublished By: Suman.agarwal
Mon, 22 May 2017 12:25 PM
हादसा: कानपुर में कारोबारी के परिवार के 4 लोग जिंदा जले

लालबंगला में सोमवार तड़के एक घर में आग लगने से साड़ी कारोबारी के परिवार के चार लोग जिंदा जल गए। सूचना पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया उसके बाद पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हादसे देख इलाके के लोग दहशत में हैं। एसएसपी सोनिया सिंह भी फौरन मौके पर पहुचीं।
लालबंगला निवासी नीरज जैन की घर के थोड़ी ही दूर पर जल्द जैन साड़ी के नाम से दुकान है। वह अपनी पत्नी सिंपी बेटा उज्जवल बेटी मान्या और मां मैम देवी के साथ रहते थे। शुक्लागंज निवासी उनके ससुर सूरज नारायण ने बताया सुबह करीब 4:45 बजे उनके नाती उज्जवल ने उनको फोन कर बताया कि घर में आग लग गई है।
सूरज नारायण ने फोन पुलिस को सूचना दी और लाल बंगला रवाना हुए। पूरा परिवार घर के बाहर निकलने के लिए कोशिश करता रहा लेकिन वह नाकाम रहा। करीब 1 घंटे बाद मुझसे दमकल कर्मियों ने आग बुझाई और चैनल का ताला तोड़कर भीतर घुसे जहां पर चारों की मौत हो चुकी थी।
फॉरेंसिक टीम जांच में जुटी
घटना की जानकारी के बाद डीआईजी सोनिया सिंह मौके पर पहुंची। साथ ही पूरी फॉरेंसिक टीम भी जांच कर साक्ष्य जुटाए। आग लगी या लगाई गई इन दोनो बिंदुओं पर पुलिस जांच शुरू कर दी है।
कारोबीरी की बेटी मान्या

भगवान का शुक्र है मान्य बच गई
नीरज की 10 वर्ष की बेटी मान्या तीन दिन पहले ही अपने नाना के घर शुक्लागंज गई थी। तब से वह वहीं पर रह रही थी उसके नाना सूरज नारायण ने कहा भगवान का शुक्र है कि मान्या बच गई, अगर वह भी यहां होती तो उसके साथ भी हादसा हो सकता था।

कैबिनेट मंत्री सतीश महाना पहुंचे मौके पर।
मंत्री ने परिवार को दी सांत्वना
कैबिनेट मंत्री सतीश महाना घटना स्थल पहुंचे। उन्होंने नीरज के ससुर समेत अन्य परिवारीजनों को सांत्वना दी। साथ ही पूरी मदद करने का आश्वासन दिया।

संबंधित खबरें