DA Image
29 जनवरी, 2020|1:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर दक्षिण के 10 लाख लोग पेयजल संकट से बेहाल

bijili

केस्को की लाइन में फाल्ट होने से बैराज का वाटर ट्रीटमेंट प्लांट गुरुवार को भी चालू नहीं हो सका। इससे उत्तर और दक्षिण के दो दर्जन से ज्यादा इलाकों की 10 लाख आबादी पेयजल समस्या से जूझ रही है। देर शाम तक फाल्ट न मिलने से शुक्रवार को भी प्लांट चालू होने की संभावना नहीं है। 

बैराज का प्लांट एक तो शहर में लीकेज मरम्मत की वजह से बंद दो दिन बंद रहा था, लेकिन उसके बाद केस्को की लाइन में फाल्ट होने से प्लांट चालू नहीं हो पाया। इससे दक्षिण के बारादेवी, किदवईनगर, जूही, बसंती नगर, परमपुरवा, बर्रा, साकेतनगर, जूही गौशाला, उत्तर के फूलबार, पटकापुर, कमला टावर, रामनारायण बाजार, नील वाली गली, नवाब साहब का हाटा सहित करीब दो दर्जन इलाकों की 10 लाख की अबादी को जलनिगम की लाइन से चौथे दिन गुरुवार को भी पानी नहीं मिला।

लोगों को हैंडपंप और सबमर्सिबल पंप से आपूर्ति के सहारे ही रहना पड़ा। जलनिगम के प्रोजेक्ट मैनेजर निर्दोश कुमार जौहरी ने बताया कि लाइन की केस्को लाइन के फाल्ट को ढूंढने के लिए केस्को कर्मी के साथ जलनिगम की टीम भी काम कर रही है, लेकिन बुधवार देर शाम से हो रही बारिश की वजह से दिक्कतें आरही हैं। ऐसी बारिश में बिजली का काम करना भी काफी मुश्किल है। फिलहाल यथास्थिति बनी हुई है। शुक्रवार को फिर से फाल्ट ढूंढने का प्रयास होगा। उसके बाद ही आगे कु बताया जा सकता है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:10 lakh people of Kanpur south suffering from drinking water crisis