DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूषित पानी पीने से किशोर सहित तीन की मौत

दूषित पानी पीने से किशोर सहित तीन की मौत

सरकारी टंकी का दूषित पानी पीने से उमरन गांव में किशोर सहित तीन लोगों की मौत हो गई। मौत की खबर से प्रशासन और स्वास्थ्य महकमें हड़कंप मच गया। प्रधान की लापरवाही के चलते प्रशासन सख्त कार्रवाई की सोच रहा है। गांव में स्वास्थ्य महकमें की कई टीमें बीमार चल रहे ग्रामीणों के इलाज के लिए गांव में तैनात है।

गांव में स्थापित टंकी मेंं क्लोरीन के न मिलाए जाने से गांव के लोग दूषित पानी कई माह से पी रहे थे। जिससे दर्जनों ग्रामीण लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। गुरुवार को उमरन निवासी सात वर्षीय किशन पुत्र छेदीलाल, (23) रेनू पत्नी गोविंद कुशवाहा सहित (70) कन्हैयालाल ने दूषित पानी पिए जाने से उनकी मौत हो गई। मौत की खबर प्रशासन को मिलते ही हडकंप मच गया। आनन फानन में स्वास्थ्य महकमें और प्रशासनिक अमले के कई अफसर गांव उमरन पहुंच गए। जहां पहुंचकर अधिकारियों ने पूरा मामला समझा। तो पता चला कि प्रधान की लापरवाही के चलते घटना घटी। दर्जनों ग्रामीण मेडिकल कालेज तिर्वा में भर्ती होकर अपना इलाज करा रहे हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.के स्वरूप ने बताया कि टीम भेजकर इलाज करवाया जा रहा है। प्रधान की घोर लारवाही है। गांव में दवा का छिड़काव करवाया जा रहा है। बीमार ग्रामीणों को बेहतर इलाज पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे है।

प्रधान पर हो सकती है कार्रवाई

गांव उमरन की प्रधान शबीना सिद्दीकी की लापरवाही के चलते दर्जनों ग्रामीण कई दिनों से बीमार है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि अगर गांव में साफ-सफाई और स्वच्छ पानी की व्यवस्था पहले से की गई होती तो इतना बड़ा हादसा नहीं होता। ग्रामीणों का कहना है कि पानी में क्लोरीन की दवा न डालने से दर्जनों लोग बीमार हैं। तीन मौतें भी हो चुकी है। इससे प्रशासनिक अमलें में हडकंप मचा हुआ है। शासन स्तर से सख्त कार्रवाई करने का आदेश जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार को दिया जा चुका है। पर प्रशासन कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं।

बोले डीडीओ

गांव उमरन पहुंचे जिला विकास अधिकारी एनबी सविता ने बताया कि गांव में साफ-सफाई न रखने पर ग्राम प्रधान को नोटिस दिया गया है। साथ ही स्पष्टीकरण मांगा गया है। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में दवा का छिड़काव कराने में जुटी हुई है। जिला विकास अधिकारी की माने तो मौतें प्रधान की लापरवाही के चलते नहीं हुई है। उन्होने बताया कि गांव में पानी की सप्लाई नहीं होती है। प्रधान का बचाव करते हुए बोले की मैं खुद गांव गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Three killed including teenager drinking contaminated water