DA Image
17 जनवरी, 2021|9:00|IST

अगली स्टोरी

प्रबंधक-प्रधानाचार्य विवाद वाले विद्यालय नहीं बनेंगे परीक्षा केंद्र

default image

कन्नौज। हिन्दुस्तान संवाद

माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर तैयारियां चल रही हैं। इसको लेकर गाइड लाइन भी जारी हो चुकी है। जहां प्रधानाचार्य पद या प्रबंधक और प्रधानाचार्य के बीच कोई विवाद है, उनको परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा।

डीआईओएस राजेंद्र बाबू ने बताया कि जिन कॉलेज परिसर के अंदर छात्रावास हैं, उनको भी बोर्ड परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा। साथ ही शिक्षकों के आवास वाले विद्यालय परिसर केंद्र की सूची में शामिल नहीं होंगे। डीआईओएस ने बताया कि प्रिंसिपल ने जो सूचनाएं अपलोड की थीं, उसी आधार पर अधिकारियों ने सत्यापन किया। उनकी सत्यापन रिपोर्ट बोर्ड को भेजी जाएगी। आधारभूत सूचनाओं पर गुणांक मिलेंगी। उसी हिसाब से मेरिट सूची बनेगी और बोर्ड परीक्षा केंद्र का निर्धारण होगा। साफ्टवेयर पर प्रक्रिया ऑनलाइन चलेगी। डीआईओएस का कहना है कि इस बार परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ेगी। करीब 2500 परीक्षार्थी भी अधिक हैं।

बोर्ड परीक्षा का लेखाजोखा

-वर्ष 2019-20 में 79 परीक्षा केंद्र थे।

-वर्ष 2020-21 के लिए हाईस्कूल में 27404 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

-वर्ष 2020-21 के लिए इंटरमीडिएट में 22749 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

नोट: बोर्ड से आवेदन भरने का समय बढ़ने की वजह से संख्या और बढ़ेगी।

परीक्षा केंद्र वाली छात्राएं स्वकेंद्र देंगी एग्जाम

डीआईओएस का कहना है कि जो स्कूल परीक्षा केंद्र बनेंगे, वहां की छात्राएं स्वकेंद्र ही एग्जाम देंगी। डिबार वाले कॉलेज परीक्षा केंद्र में शामिल नहीं होंगे। सीसीटीवी, राउटर आदि प्राथमिकता में शामिल है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Schools with manager-principal dispute will not become examination centers