DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वार्ड से मरीज नहीं जाएंगे ओपीडी

वार्ड से मरीज नहीं जाएंगे ओपीडी

राजकीय मेडिकल कॉलेज में प्राचार्य ने निरीक्षण के दौरान डॉक्टरों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि किसी भी कीमत पर वार्ड में भर्ती मरीज ओपीडी मंे दिखाने नहीं जाएगा। ऐसा होते हुए पाया गया तो सम्बन्धित डॉक्टर के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की जाएगी। प्राचार्य ने निरीक्षण के दौरान शौचालयों में मिली गन्दगी को लेकर सम्बन्धित कर्मचारियों को जमकर लताड़ लगाई।

राजकीय मेडिकल कॉलेज को सुचारु रूप से चलाने के लिए प्राचार्य डॉ. ज्ञानेन्द्र कुमार एड़ी चोटी तक जोर लगाकर प्रयास कर रहे हैं। अक्सर कर देखा गया कि वार्ड में भर्ती मरीजों को दिक्कतें आ जाती हैं। जिसके चलते मरीज ओपीडी में जाकर डॉक्टरों को दिखाते हैं। जिससे मरीजों और तीमारदारों को बेहत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। मंगलवार को निरीक्षण के दौरान प्राचार्य ने वार्ड में भर्ती मरीजों को ओपीडी में जाने से प्रतिबन्ध लगा दिया। उन्होंने बताया कि स्टॉफ नर्स सम्बन्धित डॉक्टर को फोन कर वार्ड में ही बुलाएगी। जिससे मरीज को वार्ड में ही इलाज मिल सके। इससे किसी भी प्रकार की गडबड़ी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई की जाएगी।

डॉक्टर की कमी से प्राचार्य निराश

मेडिकल कॉलेज से रिफरल सेन्टर का तमगा हटाने के लिए प्राचार्य डॉ. ज्ञानेन्द्र कुमार दिन रात एक किए हुए हैं। लेकिन डॉक्टरों के ना होने से उनका प्रयास सार्थक नहीं हो पा रहा है। जिससे प्राचार्य का मानना है कि यदि पर्याप्त डॉक्टर मिल जाए तो एक भी मरीज रिफर नहीं किया जाएगा। जटिल से जटिल मरीजों का इलाज मेडिकल कॉलेज में किया जा सकता है। फिलहाल वह इस मुहिम में कितना सफल हो पाते हैं। यह भविष्य के गरत में छिपा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:OPD patients will not go to Ward