DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  कन्नौज  ›  बहावलपुर में पानी समस्या को लेकर अनशन पर बैठे सभासद
कन्नौज

बहावलपुर में पानी समस्या को लेकर अनशन पर बैठे सभासद

हिन्दुस्तान टीम,कन्नौजPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 06:12 AM
बहावलपुर में पानी समस्या को लेकर अनशन पर बैठे सभासद

छिबरामऊ। संवाददाता

बहवलपुर गांव नगरपालिका परिषद का हिस्सा बन चुका है। यहां दो वार्ड हैं। पालिका से जुडऩे के बाद यहां पीने के पानी की भयंकर समस्या बनी हुई है। समस्या को देखते हुए सभासद हरिशरण शाक्य ने गांव में नलकूप लगवाने की मांग की थी। समाधान न होने पर उन्होंने बुधवार से गांव में क्रमिक अनशन शुरू कर दिया है। चेतावनी दी है कि यदि शीघ्र ही उनकी मांग पर ध्यान नहीं दिया गया, तो वह भूख हड़ताल शुरू कर देंगे। उनके इस आंदोलन में ग्रामीण भी पूरी तरह शामिल हैं।

बहवलपुर गांव को वार्ड पटेलनगर और हर्षनगर के नाम से पालिका क्षेत्र में जाना जाता है। गांव में दो सभासद हैं। इसके बाद भी पेयजल समस्या की ओर पालिका प्रशासन द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। भैनपुरा की सभासद पूनम शाक्य ने पिछले दिनों पालिका बोर्ड की बैठक में बहवलपुर गांव में गमा देवी मंदिर के पास नलकूप स्थापित किए जाने का प्रस्ताव सौंपा था, लेकिन पालिका बोर्ड ने कोई ध्यान नहीं दिया। इसके बाद उनके पति सभासद हरिशरण शाक्य ने एसडीएम को समस्या को लेकर ज्ञापन सौंपा और चेतावनी दी थी कि यदि निराकरण नहीं हो सका, तो 16 जून से वह ग्रामीणों के सहयोग से बहवलपुर गांव में गमा देवी मंदिर के पास क्रमिक अनशन शुरू कर देंगे। उसी के तहत बुधवार से उन्होंने क्रमिक अनशन शुरू कर दिया। इस दौरान सभासद जयप्रकाश, सभासद पति जितेंद्र कुमार, सभासद अक्कू भदौरिया, सभासद मो.वारिस, समाजसेवी अमित शाक्य, रामलखन शुक्ला, सभासद मनोज कुमार सिंह राठौर आदि काफी संख्या में लोग मौजूद रहे।

जलनिगम को निरीक्षण कर कमी दूर करने के दिए निर्देश

एडीएम गजेंद्र कुमार ने सभासदों की ओर से किए जा रहे क्रमिक अनशन के मामले में कहा कि सभासदों ने ज्ञापन सौंपा था। उसके बाद जलनिगम के एक्सईएन और ईओ के साथ संयुक्त बैठक कराई गई थी, जिसमें निर्देश दिए गए थे कि जहां भी पाइप लाइनों की टूट-फूट है। उनकी तत्काल मरम्मत करा दी जाए। इसके साथ ही जलनिगम को यह भी निर्देशित किया गया था कि ईओ के साथ निरीक्षण कर समस्याओं को शीघ्र दूर किया जाए। छिबरामऊ पुर्नगठन त्वरित पेयजल योजना के हस्तांतरण के संबंध में भी निर्देशित किया गया है कि जितना काम पूरा हो गया है। उसे हैंडओवर कर दिया जाए। अधूरे काम का शीघ्र पूरा किया जाए।

संबंधित खबरें