DA Image
27 नवंबर, 2020|7:18|IST

अगली स्टोरी

डॉक्टर हुए बीमार तो भेजे जाएंगे इंजीनियरिंग कॉलेज

डॉक्टर हुए बीमार तो भेजे जाएंगे इंजीनियरिंग कॉलेज

कोरोना के संदिग्ध मरीजों के इलाज के दौरान अगर किसी डॉक्टर को कोई परेशानी होती है तो उसे राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में भर्ती कराया जाएगा। इसके लिए यहां 50 बेड का आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है। शनिवार को डीएम-एसपी ने यहां पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया।

राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज में जिला प्रशासन ने 50 बेड का आईसोलेशन वार्ड बना दिया हैं। इंजीनियरिंग कॉलेज के गर्ल्स हास्टल में 30 बेड व ब्वायज हॉस्टल में 20 बेड डालकर इसे आईसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया हैं। यहां पर कोरोना के संदिग्ध मरीजों का इलाज करने वाले चिकित्सक यदि बीमार होते हैं तो उन्हे इन वार्डों में रखा जाएगा। शुक्रवार की दोपहर 12 बजे के करीब अफसरों का काफिला इंजीनियरिंग कॉलेज पहंुचा। खाली पड़े ब्वायज हॉस्टल व गर्ल्स हॉस्टल के भवनों का निरीक्षण किया। अफसरों को निर्देश दिए कि गर्ल्स हॉस्टल में 30 बेड व ब्वायज में 20 बेड डलवाकर व्यवस्था कराई जाए। इसपर इंजीनियरिंग कॉलेज के निर्देशक डॉ. बीडीके पात्रो ने भरोसा कि शाम तक सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएंगी। डीएम ने बताया कि इंजीनियरिंग कॉलेज के आईसोलेशन वार्ड में चिकित्सकों के बीमार पड़ने पर उन्हें यहां रखा जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:If you become ill you will be sent to engineering college