DA Image
2 अप्रैल, 2021|4:16|IST

अगली स्टोरी

फिर से मक्का में विदेशी कीट फॉल आर्मीवर्म का झपट्टा

फिर से मक्का में विदेशी कीट फॉल आर्मीवर्म का झपट्टा

कन्नौज। हिन्दुस्तान संवाद

इत्रनगरी में पिछले साल की तरह इस साल भी विदेशी कीट फॉल आर्मीवर्म का प्रकोप शुरू हो गया है। मक्का की फसल में कीट ने झपट्टा मार दिया है। इसकी पुष्टि खुद जिला कृषि अधिकारी ने की है। साथ ही किसानों को अलर्ट रहने और फसल का बचाव करने की सलाह दी है।

जनपद में करीब 55 हजार से 60 हजार हेक्टेयर रकवे में मक्का की फसल होती है। फिलहाल गर्मी यानि अगैती की मक्का तैयार हो रही है। इसमें अभी से ही फॉल आर्मीवर्म कीट का प्रकोप शुरू हो गया है। इससे फसल का खासा नुकसान होता है। जिला कृषि अधिकारी राममिलन सिंह परिहार ने बताया कि गुरुवार को वह एक सत्यापन के सिलसिले में निकले थे। ब्लॉक कन्नौज क्षेत्र के गांव रौनी हुसैनपुर निवासी रामनरेश के खेत में उन्होंने मक्का की फसल देखी तो उसमें फॉलआर्मी वर्म कीट देखकर वह हैरान हो गए। उन्होंने बताया कि अभी न्यून स्तर पर ही कीट है, लेकिन उपाय न करने पर बढ़ोत्तरी हो जाएगी।

ऐसे करें कीट से फसल का बचाव

प्रभारी जिला कृषि रक्षा अधिकारी राममिलन सिंह परिहार ने बताया कि किसान खेतों में पक्षियों को बिठाने के लिए आठ से 10 वर्ड परचर (टी या वाई आकार की छह से आठ फुट लंबी लकड़ी) का प्रयोग प्रति एकड़ में करें। शाम को खेत में चार से पांच जगह फेरो मैन ट्रेप (प्रकाश प्रपंच) का प्रयोग कर सकते हैं।

ये भी नुस्खे अपनाएं किसान

30 से 35 दिन की फसल में नौ अनुपात एक बालू और चूना मिलाकर फसल पर बुरकाव करें। जैविक उपचार के लिए नीम ऑयल पांच मिली लीटर प्रति लीटर पानी में मिलाकर फसल में छिड़काव करें। रसायनिक उपचार के लिए इमामेक्टिन वेन्जोऐट प्वाइंट चार ग्राम प्रति लीटर थायोमेक्सॉन 12.6 प्रतिशत एवं लैम्डासाइहैलोथ्रिन 9.5 प्रतिशत की प्वाइंटर पांच मिली मात्रा को प्रति लीटर पानी में मिलाकर आवश्यकता के तहत छिड़काव करें।

दुकानदारों को नीम ऑयल रखने की सलाह

जिला कृषि अधिकारी ने सभी कीटनाशक दुकानदारों को नील ऑयल और कृषि रक्षा रसायनों की उपलब्धता बनाए रखने को कहा है।

इस तरह पहुंचाता है फसल को नुकसान

कीट सूड़ी की तरह होता है। यह पत्तियों में छेद कर देता है। बाहरी किनारों पर उत्सर्जित पदार्थों जो भूसे के बुरादे की तरह मटमैला या काला होता है, से नुकसान पहुंचता है।

आठ सौ से एक हजार अंडे देता

मादा फॉल आर्मीवर्म कीट एक बार में आठ सौ से एक हजार अंडे पत्तियों की निचती सतह पर देती है। जो एक झिल्ल्ी की आक्रति से ढके होते हैं और दो से तीन दिन में कीट की सूड़ी जाल की तरह फसल के पौधे में फैल जाती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Foreign insect fall armyworm swoop again in Mecca