DA Image
17 सितम्बर, 2020|4:00|IST

अगली स्टोरी

छिबरामऊ में छह साल में भी पूरी नहीं हो सकी पेयजल योजना

छिबरामऊ में छह साल में भी पूरी नहीं हो सकी पेयजल योजना

छह साल के लंबे इंतजार के बाद भी छिबरामऊ पुर्नगठन पेयजल योजना अभी तक पूरी नहीं हो सकी है। ओवरहेड टैंकों के साथ नलकूप और पाइप लाइनें बिछाई जा चुकी हैं, लेकिन अभी तक उसका अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है। जिसके चलते लगभग 22 करोड़ की यह योजना फिलहाल अधर में लटकी हुई है। पालिका प्रशासन का कहना है कि जब तक उन्हें हैंडओवर नहीं हो जाती, तब तक उस योजना के बारे में सिर्फ जलनिगम ही बेहतर जानकारी दे सकता है।

छह वर्ष पहले तत्कालीन सपा शासन काल में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शहर में पेयजल समस्या को देखते हुए 22 अक्टूबर 2014 को छिबरामऊ पुर्नगठन पेयजल योजना जिसकी अनुमानित लागत उस समय 2192.08 लाख रुपए शासन से स्वीकृत की गई थी। इस योजना के अंतर्गत मुख्य रूप से तीन ओवरहेड टैंक, नौ नलकूप, एक सीडब्ल्यूआर और इसके साथ ही वितरण प्रणाली के तहत पाइप लाइन बिछाए जाने का कार्य प्रस्तावित किया गया था। उस समय इसका कार्य बड़ी तेजी से शुरू हुआ था, लेकिन प्रदेश का निजाम बदलते ही यह कार्य भी लेटलतीफी की भेंट चढ़ता चला गया। लगभग छह वर्ष का समय पूरा होने को है, लेकिन अभी तक जलनिगम ने अपना पूरा काम नहीं किया गया है। अधूरे पड़े कार्य के चलते अभी तक जलनिगम ने इस योजना को पालिका प्रशासन के हैंडओवर भी नहीं कर पाया है।

इन स्थानों पर लगे हैं नलकूप

नगरपालिका कंपाउंड मे दो, पश्चिमी बाईपास गांधी प्रतिमा के पास, अस्पताल रोड चौराहा पर, गनेश चौधरी में लकड़ी मंडी के पास, मोहल्ला बिरतिया में हनुमानगढ़ी के पास, सीवर क्वाटर के पास, ऊंचा बिरतिया बारातघर के पास, कैलाश पर्वत के पास, कालिका देवी मंदिर के सामने, मोहल्ला सराफान में, आवास विकास कालोनी में, टेलीफोन एक्सचेंज के पास, हीरालाल कालेज के पीछे, कांशीराम कॉलोनी में नलकूप लगे हैं।

यहां पर हैं ओवरहेड टैंक

नगर में पांच पानी की टंकियां हैं। जो नगरपालिका कंपाउंड, कालिका देवी मंदिर के सामने, कैलाश पर्वत, आवास विकास कालोनी और कांशीराम कॉलोनी में स्थित हैं।

जनपद का सबसे बड़ा बना है ओवरहेड टैंक

शहर के पश्चिमी बाईपास नहरकोठी के पास 22 लाख लीटर क्षमता का ओवरहेड टैंक बनाया गया है। इस टैंक से सप्लाई शुरू होने से पूरे नगर की पेयजल सप्लाई समस्या दूर हो जाएगी। यह ओवरहेड टैंक जनपद में सबसे बड़ा बना है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Drinking water scheme could not be completed in Chibramau even in six years