DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डायरियों के मरीजों से जिला अस्पताल हाउसफुल

डायरियों के मरीजों से जिला अस्पताल हाउसफुल

बुखार का कहर ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर शहरियों तक पहुंच चुका है। डायरिया, वायरल और मलेरिया के मरीजों का जिला अस्पताल में इन दिनों हुजूम लग रहा है। सोमवार को अस्पताल का हाल बेहाल था। उल्टी, दस्त से अस्पताल में गंदगी और बदबू फैली हुई थी। बैड फुल थे। ज्यादातर मरीज फर्श पर लेटे हुए थे। दवा लेने के लिए मरीजों की लाइनें लगी दिखीं। डॉक्टर को मरीज घेरे हुए रहे।

जिला अस्पताल इन दिनों बीमारी की चपेट में है। तकरीन 1000 मरीज ओपीडी में पर्चा बनवाकर रोजाना इलाज करवा रहे हैं। वायरल, डायरिया, मलेरिया से पीड़ित मरीज इलाज को आते हैं। सोमवार को इमरजेन्सी वार्ड से लेकर ओपीडी तक मरीज भरे हुए दिखे। इमरजेन्सी वार्ड में जसौली निवासी अफसर ने अपनी पुत्री रिजवाना को उल्टी, दस्त शुरू होने के बाद जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। पास वाले बेड पर तेरामल्लू निवासी शनि भर्ती था। उसे भी डायरिया हो गया था। इमरजेन्सी वार्ड में सोमवार को पैर रखने की जगह नहीं थी। कई मरीजों को इलाज के बाद उनकी छुट्टी कर दी गई। वाडार्ें का हाल बेहाल था। मरीज और तीमारदारों से भरे हुए थे। ओपीडी में पर्चा बनवाने के बाद डॉक्टरों के चेम्बरों के बाहर महिलाएं फर्श पर बैठकर अपना नाम पुकारे जाने का इंतजार कर रही थीं। मरीजों से डॉक्टरों के चेम्बर भरे हुए थे। डॉक्टर को दिखाने के बाद दवा लेने के लिए दर्जनों मरीज लाइन लगाकर दवा मिलने का इंतजार कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: District Hospital Housefull with Diary Patients